Breaking News

चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लुर, पुडुकोट्टई और नागपट्टनम में बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त

नई दिल्ली / चेन्नई । चेन्नई, कांचीपुरम, तिरुवल्लुर, पुडुकोट्टई और नागपट्टनम के कई इलाकों में शुक्रवार शाम से फिर तेज बारिश शुरू हो गई। भारी बारिश के कारण स्कूल-कॉलेज बंद कर दिये गये। इससे जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। शुक्रवार को दिन बारिश से कुछ राहत मिली थी, लेकिन शाम होते-होते फिर से भारी बारिश शुरू हो गई। 

तमिलनाडु सरकार ने आईटी कंपनियों को अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की सुविधा प्रदान की अपील की है।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में तमिलनाडु के उत्तर तटीय क्षेत्रों में भारी से अत्यंत भारी बारिश होने और चेन्नई एवं उसके उपनगरों में आंधी आने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।

भारी बारिश के चलते चेन्नई में कई जगहों पर जलभराव होने की खबरें हैं। वही राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन में भी रात ही में ट्वीट कर लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी थी।

तमिलनाडु में बारिश की स्थिति से ठीक से न निपट पाने के लिये आलोचना झेल रहे मुख्यमंत्री के पलानीसामी ने उप मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कुछ इलाकों का दौरा किया।

उन्होंने बाढ़ राहत शिविरों में मौजूद व्यक्तियों को खाने के पैकेट, धोती और साड़ी, चटाई और चादर बांटे।

अन्ना यूनिवर्सिटी और यूनिवर्सिटी ऑफ मद्रास ने अपनी सेमेस्टर परीक्षाओं को रद्द करने की घोषणा की।

ट्रैफिक व्यवस्था चेन्नई में काफी खराब है बारिश की वजह से गाड़ियां धीरे चल रही हैं और जलभराव के चलते कई जगह ट्रैफिक जाम की भी सूचना है।

बता दें कि चेन्नई में भारी बारिश के चलते 8 और 10 साल की दो लड़कियों की करंट लगने के कारण मौत हो गई थी। वे अपने घरों के पास खेल रही थी। विद्युत मंत्री पी. थंगमनी ने बच्चियों की मौत पर दुख व्यक्त किया था।

 

Loading...

Check Also

नरेन्द्र मोदी की सरकार सबसे कमजोर सरकार है, यह कुछ दिनों की मेहमान है: लालू प्रसाद

पार्टी के मजबूती के लिए कार्यकर्ताओं और नेताओं को हर घर तक जाने की आवश्यकता ...