Breaking News

भारतीय रेल प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लोगों को रोजगार देने में अग्रसर …….

सूर्योदय भारत समाचार सेवा : नए भारत की प्रतिदिन सुदृढ़ होती आर्थिक स्थिति जैसे जैसे मज़बूत होकर आगे बढ़ रही है उसमें भारतीय रेल की प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष भूमिका भी उल्लेखनीय है। भारतीय रेल, रोजगार सृजन करने में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से सहयोगी है।इसने पिछले 09 सालों में 40 लाख से अधिक रोजगार उत्पन्न किए हैं।

रोजगार को बढ़ावा देने के लिए देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा दिनांक 22 अक्टूबर, 2022 को रोजगार मेला का शुभारंभ किया गया था जिसके अंतर्गत भारतीय रेलवे द्वारा भी लाखों लोगों को रोजगार दिया गया है।
इस साल, 28 अक्टूबर, 2023 को आयोजित रोज़गार मेलें में 51,000से अधिक अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र सौपें गये, जिसमें करीब 14 हजार रोजगार का सृजन भारतीय रेलवे द्वारा किया गया। रोजगार मेला की मदद से पिछले 1 साल में करीब 1.5 लाख लोगों को रेलवे द्वारा रोजगार दिया गया।
साल 2004 से 2014 तक जहां 4 लाख 11 हजार 224 लोगों को रोजगार दिए गया वहीं 2014 से 2023 तक बीते 9 सालों में 4 लाख 99 हजार लोगों को रोजगार दिया गया। 2004 से 2014 की अवधि में जहां प्रति वर्ष 41 हज़ार रोज़गार दिया गया वही 2014 से 2023 की अवधि में प्रतिवर्ष 50 हज़ार से अधिक रोज़गार दिया गया।

नए ट्रैक के निर्माण से भी अप्रत्यक्ष रूप में 33 हजार मैन पावर दिन रोज़गार का सृजन भी गत सालों में हुआ है,जिससे प्रत्यक्ष रूप से करीब 5 लाख लोगों को रोज़गार मिला।

भारतीय रेल द्वारा गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान के अंतर्गत 18 सितम्‍बर 2020 तक बिहार, झारखण्‍ड, मध्‍य प्रदेश,ओडिशा, राजस्‍थान और उत्‍तर प्रदेश जैसे छह राज्‍यों में 9 लाख 79 हजार 557 दिहाड़ी रोजगार प्रदान किये गए।
गत वर्षों दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन परीक्षा, रेलवे द्वारा आयोजित की गई थी जिसमें 1.11 करोड़ से ज़्यादा उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी। रेलवे द्वारा इस परीक्षा को पारदर्शी तरीक़े से सफलतापूर्वक सम्पन्न किया गया। कोरोना महामारी के बावजूद रेलवे द्वारा ऐसी परीक्षाएँ आयोजित कररोज़गार उपलब्ध कराना उल्लेखनीय है।
रोजगार सृजन करने की दिशा में भारतीय रेलवे ने देश भर में अपने 1309 स्टेशनों का पुनर्निर्माण करने और यात्रियों की व्यापक जरूरतों को पूरा करने व उन्हें आधुनिक सुविधाओं से लैस करने के लिए अमृत भारत स्टेशन योजना भी शुरू की गई जिसके प्रारंभिक चरण में 508 स्टेशनों का रीडिवेलप्मेंट होगा जिसके द्वारा प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से रोज़गार के अवसर उपलब्ध होंगें।
रेलवे की बहुत सारी इंफ़्रास्ट्रक्चर परियोजनायों  प्रगति पर है तथा इनके द्वारा भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोज़गार का सृजन हुआ है। आने वाली नई परियोजनाओं के माध्यम से लाखों   वयक्तियों को रोज़गार के नए अवसर उपलब्ध होंगे। भारतीय रेल सतत रूप से किए जा रहे कार्यों द्वारा मानव श्रम शक्ति को रोज़गार के नए आयाम उपलब्ध कराएगी ।
Loading...

Check Also

राजस्थान की जीवन रेखा कहे जाने वाले तालाबों को पुनर्जीवित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा अदाणी फाउंडेशन

सूर्योदय भारत समाचार सेवा : एक टेलीविजन विज्ञापन में जब एक पानी के टैंकर का ...