Breaking News

अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर बदनामी होने के बाद केन्द्र सरकार के दबाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मजबूरन आज ताज जाना पड़ा : अखिलेश

लखनऊ। ताजमहल को लेकर पनपे विवाद के बीच सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आज कहा कि अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर बदनामी होने के बाद केन्द्र सरकार के दबाव में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को मजबूरन आज विरासत स्थल [ ताजमहल ] जाना पड़ा। अखिलेश ने कहा कि भाजपा के लोगों ने ताजमहल को शिव का मंदिर बता दिया। किसी ने उसे भारतीय संस्कृति पर धब्बा कहा। मगर देखिये समय कैसे बदलता है। जब अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर बदनामी हुई तो केन्द्र सरकार के दबाव में मुख्यमंत्री योगी आज ताजमहल पहुंच गये।

सपा अध्यक्ष ने योगी द्वारा आज चलाए गए स्वच्छता अभियान पर तंज कसते हुए कहा,, ‘‘जो लोग ताजमहल को अपनी संस्कृति का हिस्सा और अपनी धरोहर नहीं मानते थे, भगवान राम ने क्या किया कि आज उन्हें उसी इमारत के पश्चिमी द्वार पर झाडू लगानी पड़ गयी।’’ अखिलेश ने कहा, ‘‘ताजमहल परिसर में कुछ लोगों ने भगवा पहनकर पूजा की। यह लोग देश से पर्यटन को खत्म करना चाहते हैं। मैं चुनौती देता हूं कि भाजपा और उसके लोग ताजमहल को दुनिया की धरोहर इमारतों की सूची से हटवाकर दिखायें।’’
पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि उनकी सरकार ने ताजमहल के आसपास सबसे ज्यादा काम किया, जबकि मौजूदा भाजपा सरकार ने इस इमारत से जुड़ी तमाम परियोजनाओं को रोक दिया। सपा अध्यक्ष ने दावा किया कि इस बार गुजरात की जनता ने विधानसभा चुनाव में भाजपा को खारिज करने का फैसला कर लिया है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने कांग्रेस ने पांच सीटें मांगी हैं। अगर बात नहीं बनती है तो भी सपा वहां सभी सीटों पर कांग्रेस का समर्थन करेगी।
अखिलेश ने प्रदेश के आगामी स्थानीय निकाय चुनाव की तरफ इशारा करते हुए कहा कि प्रदेश में कूड़े की बड़ी समस्या है और कूड़ा खत्म करने का चुनाव भी आ रहा है। हम जनता से कहेंगे कूड़े को सफाई में बदलने के लिये इन चुनाव में सपा को वोट दें। उन्होंने कहा कि अगर सपा जनता को समझाने में कामयाब रही और मेट्रो रेल, जनेश्वर मिश्र पार्क, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे को लेकर वोट पड़े तो ज्यादातर नगर निगमों में सपा के ही मेयर होंगे।
अखिलेश ने एक सवाल पर कहा कि उनकी पार्टी आगामी आठ नवम्बर को नोटबंदी का एक साल पूरा होने पर काला दिवस मनाएगी। इस मौके पर बसपा, भाजपा तथा कांग्रेस के कई नेता अपने सैंकड़ों समर्थकों के साथ सपा में शामिल होंगे। इनमें बसपा से तीन बार विधान परिषद सदस्य रहे मनीष जायसवाल, वरिष्ठ नेता मधुसूदन शर्मा तथा रालोद की पूर्व विधायक मिथिलेश पाल प्रमुख हैं।
अखिलेश ने कहा कि विदेशी पर्यटकों को सेल्फी लेने के लिए पीटा जा रहा है. उप्र का एंटी रोमियो स्क्वॉड कहां है.  अखिलेश यादव ने फतेहपुर सिकरी में स्विस जोड़े की पिटाई के मामले में ये बातें कहीं. अखिलेश ने कहा, एंटी रोमियो स्क्वॉड का क्या हुआ. एक विदेशी युगल को फतेहपुर सिकरी में सेल्फी लेने के लिए पीटा गया. प्रदेश में अप्रत्याशित रूप से अपराध और लूट की घटनाओं में इजाफा हुआ है. कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो गई है.”
Loading...

Check Also

किसानों के लहू का हिसाब केंद्र सरकार को देना होगा, चौधरी चरण सिंह भारत रत्न से भी बहुत बड़े रत्न थे- सुनील सिंह

अनुपूरक न्यूज एजेंसी, लखनऊ। लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह गुरुवार को लखनऊ स्थित लोकदल ...