Breaking News

मार्टिन स्कोर्सेज़ी का ‘किलर्स ऑफ द फ्लावर मून’ के साथ ‘वेस्टर्न’ में प्रवेश

सूर्योदय भारत समाचार सेवा : ‘किलर्स ऑफ द फ्लावर मून’ सच्ची घटनाओं से प्रेरित अर्नेस्ट बर्कहार्ट (लियोनार्डो डिकैप्रियो) और मोली काइल (लिली ग्लैडस्टोन) की अप्रत्याशित प्रेम कहानी पर आधारित फिल्म है। यह फिल्म पश्चिम में हुए अपराध की कहानी को प्रदर्शित करती है, जो वास्तविक प्रेम को अकल्पनीय विश्वासघात के साथ जोड़ती है। इस फिल्म में रॉबर्ट डी नीरो और जेसी प्लेमोंस जैसे कलाकार अभिनय कर रहे हैं। एकेडमी अवॉर्ड विजेता मार्टिन स्कोर्सेज़ी द्वारा निर्देशित और उनके और एरिक रोथ द्वारा सह-लिखित, यह स्क्रीनप्ले डेविड ग्रैन की सबसे अधिक बिकने वाली किताब पर आधारित है।

20वीं सदी के अंत में, तेल ने ओसेज नेशन (मूल अमेरिकी जनजाति) की तकदीर बदलकर रख दी, और यह जनजाति रातों-रात दुनिया के सबसे अमीर लोगों में से एक बन गई। लेकिन इस मूल अमेरिकी जनजाति की संपत्ति पर कुछ घुसपैठियों की बुरी नज़र पड़ गई। इन घुसपैठियों न सिर्फ उनकी हत्या को अंजाम दिया, बल्कि उससे पहले ओसेज के धन में जितना संभव हो सका, उतनी हेराफेरी की, उनसे जबरन वसूली की और यहाँ तक की चोरी भी की।

वर्ष 2016 में इसके पब्लिश होने से पहले ‘गैंग्स ऑफ न्यूयॉर्क’, ‘द डिपार्टेड’ और ‘द वुल्फ ऑफ वॉल स्ट्रीट’ जैसी सफलताओं के बाद डिकैप्रियो की टीम ने ग्रैन की हस्तलिपि को अधिकृत किया और इसके छठे सहयोग के लिए निर्देशक मार्टिन स्कोर्सेज़ी के पास यह प्रोजेक्ट लेकर आई।

निर्देशक मार्टिन स्कोर्सेज़ी कहते हैं, “जब मैंने डेविड ग्रैन की किताब पढ़ी, तो इसमें शामिल लोगों, सेटिंग और एक्शन ने मुझे बहुत प्रभावित किया, और मैंने तुरंत तय किया कि मुझे इस कहानी को फिल्म में उतारना है। इस कहानी को स्क्रीन पर लाने के लिए लियो के साथ दोबारा गठजोड़ को लेकर मैं बहुत उत्साहित था।”

निर्देशक याद करते हुए बताते हैं कि ग्रैन के शीर्षक से वे बेहद प्रभावित हुए और संभावना को देखते हुए उन्होंने विचार किया कि शायद यही उनकी वेस्टर्न फिल्म हो सकती है। इस शैली को स्कोर्सेज़ी बचपन से ही पसंद करते हैं। वे कहते हैं, “मैं हमेशा से ही वेस्टर्न फिल्म बनाना चाहता था, लेकिन कभी मौका नहीं मिल पाया। उम्र बढ़ने के साथ मैंने विभिन्न वेस्टर्न फिल्म्स देखीं, और उनमें से कई मुझे बहुत पसंद थीं और आज भी हैं। इनमें मुख्य रूप से रॉय रोजर्स फिल्में शामिल हैं, जो मूल रूप से बच्चों के लिए बनाई गई थीं और साथ ही 40 और 50 के दशक के अंत में आई जटिल फिल्में भी मेरे दिल के बेहद करीब हैं। साइकोलॉजिकल वेस्टर्न फिल्म्स की तुलना में पश्चिम के पारंपरिक और संस्कृति के मिथकों के इर्द-गिर्द बनी फिल्म्स ने मेरे दिल में विशेष जगह बनाई। लेकिन फिल्म इतिहास को जानने का उद्देश्य कभी-भी इसे ज्यों का त्यों बनाए रखना या दोहराना नहीं है, बल्कि इससे प्रेरित होकर विकसित करने पर ध्यान देना है। इन्हीं फिल्म्स ने मुझे वास्तव में एक फिल्म निर्माता बनाया, और साथ ही मुझे वास्तविक इतिहास में गहनता से उतरने के लिए प्रेरित भी किया।”

पैरामाउंट पिक्चर्स द्वारा प्रस्तुत, वायाकॉम18 स्टूडियोज़ की बहुप्रतीक्षित फिल्म, ‘किलर्स ऑफ द फ्लावर मून’ 27 अक्टूबर, 2023 को भारत के सिनेमाघरों में रिलीज़ होने के लिए पूरी तरह तैयार है।

Loading...

Check Also

आगरा के विकास एवं धार्मिक पर्यटन के लिए मंत्री योगेन्द्र उपाध्याय ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से की मुलाकात

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ / नई दिल्ली / आगरा : उत्तर प्रदेश के उच्च ...