Breaking News

देवरिया काण्ड शासन-प्रशासन और न्याय के लिए बड़ी चुनौती : अखिलेश यादव

अनुपूरक न्यूज़ एजेंसी, लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आज दोपहर देवरिया जिले के फतेहपुर गांव पहुंचकर दोनों परिवारों के बीच हुए हत्याकाण्ड की जानकारी ली तथा संवेदना प्रकट की। उन्होंने कहा कि ऐसी दर्दनाक घटना उत्तर प्रदेश में पहले नहीं हुई। हम इस घटना की निंदा करते है।
    अखिलेश यादव पहले सत्य प्रकाश दुबे के घर पहुंचे, और घटना के सम्बंध में जानकारी ली। उसके बाद प्रेम प्रकाश यादव के घर पहुंचकर श्रद्धांजलि दी और परिजनों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी। प्रेम प्रकाश यादव की पत्नी और बेटियों से बात की। देवरिया जिले के फतेहपुर गांव में दो परिवारों के बीच हुए विवाद में 6 लोगों की हत्या हो गयी थी।
    अखिलेश यादव ने इस अवसर पर मीडिया से बात करते हुए कहा कि देवरिया काण्ड शासन-प्रशासन और न्याय के लिए बड़ी चुनौती है। सरकार ने स्वीकार किया है कि उसकी कमी है। छोटे अधिकारियों से गलती हुई है। इसीलिए उनके खिलाफ कार्रवाई हुई है। इस घटना को हम विधानसभा में उठाएंगे। उन्होंने कहा कि अधिकारी जिस भी स्तर के हों उन्हें न्याय करना चाहिए। प्रेम यादव के परिवार को न्याय मिलना चाहिए। समाज संतुलित न्याय चाहता है। सरकार न्याय नहीं दिला पा रही है, इसीलिए जनता खेतों में और प्रेम यादव के घर के आसपास खड़ी है।
    यादव ने कहा कि देवरिया में जो घटना हुई है वह गलत हुई है। देवरिया के जिलाधिकारी ने खुद कहा कि घटना रिटेलिएशन में हुई है। अगर प्रेम यादव की हत्या न हुई होती तो मासूमों की जान नहीं जाती। प्रेम यादव की हत्या धारदार हथियार से हुई। जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली सरकार अभी तक यह सच्चाई सामने नहीं ला पाई है कि पहली घटना कैसे हुई?
    अखिलेश यादव ने कहा कि प्रेम यादव को बुलाकर मारा गया, धोखे से मारा गया। सरकार इस बात को क्यों छुपा रही है? दोनों घरों के बीच दूरी है। आखिर क्या वजह रही कि प्रेम यादव सुबह ही सुबह दूसरे परिवार के घर गये और उनकी हत्या हो गयी।
    यादव ने कहा कि बुल्डोजर संस्कृति लोकतंत्र के लिए खतरनाक है। अगर बुल्डोजर से ही न्याय शुरू हो जाएगा तो अगली सरकारें भी यही करेंगी। देवरिया में घटना हुई है। दोनों परिवारों ने अपनों को खोया है। मेरी दोनों परिवारों से मिलने की जिम्मेदारी थी इसलिए मैं दोनों परिवारों के घर गया।
    यादव ने कहा कि हम सरकार से मांग करते हैं कि दोनों परिवारों की मदद करें और न्याय दिलाएं। मुख्यमंत्री जी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। उन्हें इस घटना का राजनीतिक लाभ नहीं लेना चाहिए। योगी का मतलब होता है दूसरे का दुःख अपना दुःख समझे। किसी के साथ भेदभाव नहीं करना चाहिए।
    अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा समाज को बांट रही है। समाज इसे समझ रहा है। इस सरकार की नीयत साफ नहीं है। सरकार को दोनों परिवारों के लोगों से मिलना चाहिए था। भाजपा सरकार प्रेम यादव के रिश्तेदारों को परेशान कर रही है। प्रेम यादव के परिवार की एफआईआर तक नहीं दर्ज कर रही है। सरकार इस तरह की घटनाएं रोके। सभी के साथ न्याय करे। भाजपा के नेता और कार्यकर्ता इस घटना पर राजनीति कर रहे हैं और इसका लाभ लेना चाहते हैं।

Loading...

Check Also

राज्य सूचना आयुक्त नरेन्द्र श्रीवास्तव की बड़ी कार्यवाही, अपीलकर्ता की सभी फाईलें हुई निस्तारित

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ : राज्य सूचना आयुक्त नरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव ने अपीलकर्ता अमर ...