Breaking News

पहली पुण्यतिथि पर सैफई में याद किए गए नेताजी मुलायम सिंह यादव

अनुपूरक न्यूज एजेंसी, लखनऊ l पैतृक गांव सैफई में नेताजी की समाधि को फूलों से सजाया गया था। नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रदेश भर से हजारों की संख्या में लोग सैफई पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित की। लोग ‘नेताजी अमर रहे‘ और ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, नेताजी का नाम रहेगा‘ के नारे लगा रहे थे। समाधि स्थल के पास एक विशाल पंडाल बनाया गया था। सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रमुख नेताओं और कार्यकर्ताओं ने भी श्रद्धांजलि देते हुए नमन किया।

समाजवादी पार्टी ने आज अपने संस्थापक नेताजी मुलायम सिंह यादव जी को उनकी पहली पुण्यतिथि पर श्रद्धापूर्वक याद करते हुए नमन किया। किसानों, पिछड़ों दलितों, महिलाओं और मजदूरों के उत्थान के लिए आजीवन संघर्ष कर परिवर्तन की राजनीति के नायक नेताजी मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्यतिथि पर पूरे देश और प्रदेश में समाजवादी पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं, समर्थकों ने उनके आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया। मुख्य कार्यक्रम सैफई में नेताजी के समाधि स्थल पर आयोजित किया गया। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, पार्टी के प्रमुख राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सदस्य प्रोफेसर रामगोपाल यादव, राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल सिंह यादव, मैनपुरी से लोकसभा सदस्य श्रीमती डिंपल यादव ने परिवार के सदस्यों के साथ नेताजी की समाधि स्थल पर पहुंचकर पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया। इस अवसर पर निजी आवास में हवन-पूजन का कार्यक्रम भी सम्पन्न हुआ। पैतृक गांव सैफई में नेताजी की समाधि को फूलों से सजाया गया था। नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रदेश भर से हजारों की संख्या में लोग सैफई पहुंचे और श्रद्धांजलि अर्पित की। लोग ‘नेताजी अमर रहे‘ और ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, नेताजी का नाम रहेगा‘ के नारे लगा रहे थे। समाधि स्थल के पास एक विशाल पंडाल बनाया गया था। सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के प्रमुख नेताओं और कार्यकर्ताओं ने भी श्रद्धांजलि देते हुए नमन किया।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने श्रद्धांजलि देने के बाद कहा कि ‘जो बसते हैं दिल में लोगों के, वो जाकर भी कहीं न जाते हैं।‘ आपके सिद्धांतों और प्रयासों को नमन करते हुए उन्हें साकार और सार्थक करने की वचनबद्धता के साथ श्रद्धांजलि!

सैफई में धर्मेन्द्र यादव, राम गोविंद चौधरी, अरविन्द यादव, अरविन्द सिंह गोप, तेज प्रताप तेजू, अक्षय यादव, ओमप्रकाश सिंह, रामजी लाल सुमन, अवधेश प्रसाद, अम्बिका चौधरी, जूही सिंह, नारद राय, प्रदीप कक्का, अनुराग यादव, अंशुल यादव, आदित्य यादव, राजेश यादव, उदयवीर सिंह, राजकुमार राजू विधायक, आशु मलिक, आलोक शाक्य, शकील नदवी, अशोक यादव, अनुराग भदौरिया, जासमीर अंसारी, एस.के. राय, राज जतन राजभर, अपर्णा जैन आदि सैकड़ों प्रमुख नेता शामिल रहे।

Loading...

Check Also

राज्य में ध्वस्त विधि-व्यवस्था के खिलाफ 20 जुलाई को जिला मुख्यालयों पर प्रतिरोध मार्च: महागठबंधन

अनुपूरक न्यूज एजेंसी, पटना । बुधवार को राज्य में बढ़ते अपराध की घटनाओं को लेकर ...