Breaking News

इन्वेस्ट राजस्थान 2022 शिखर सम्मेलन में भाग लेना एक सौभाग्य की बात है : गौतम अडानी

सूर्योदयभारतसमाचारसेवा, जयपुर :

सम्बोधन / भाषण : गौतम अडानी,
इन्वेस्ट राजस्थान 2022

माननीय मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी,
सरकार के वरिष्ठ नेता,
इंडस्ट्री लीडर्स,
और मेरे प्यारे दोस्तों,

सभी के लिए मेरा शुभ प्रभात।

इन्वेस्ट राजस्थान 2022 शिखर सम्मेलन में भाग लेना एक सौभाग्य की बात है और यह शानदार ‘राजाओं की धरती’ जिसे हम राजस्थान कहते हैं, में अदाणी ग्रुप की मौजूदा उपस्थिति और भविष्य की योजनाओं के बारे में बात करने का अवसर है। यह वह मिट्टी है जिसने हमें हमारी कुछ सबसे बहादुर राष्ट्रीय हस्तियां दीं, हम्मीर देव, महाराणा कुंभा, हेमचंद्र विक्रमादित्य, महाराजा सूरज मल और निश्चित रूप से, महाराणा प्रताप। हमें इन सबसे कठिन रेगिस्तानों ने, हमारे सबसे महान योद्धा दिए हैं। इसमें कोई आश्चर्य नहीं कि मुझे राजस्थान की हर यात्रा व्यक्तिगत रूप से बहुत प्रेरणादायक लगती है!

माननीय मुख्यमंत्री जी, आपके पिछले कार्यकाल के दौरान, जब मैं पहली बार राजस्थान में पावर सेक्टर में निवेश करने की अपनी इच्छा व्यक्त करने के लिए आपसे मिला था, तो मुझे स्पष्ट रूप से याद है कि कैसे आपने फ़ौरन हमारा समर्थन किया, और जितना कम से कम समय में संभव हो, अपने प्रशासन को भूमि, पानी व अन्य मंजूरी की पहचान करने तथा आवंटित करने का निर्देश दिया। यह सबसे तेज निर्णय लेने की ऐसी प्रक्रिया थी, जिसे मैंने पहले कभी नहीं देखा था, और यह गति कुछ ऐसी थी जिसने हमें मात्र 36 महीनों में 1,320 मेगावाट का कवाई पावर प्लांट स्थापित करने की इजाज़त दी, जो भारत के लिए एक रिकॉर्ड है, और अदाणी ग्रुप के द्वारा बनाए गए किसी भी सुपर क्रिटिकल थर्मल पावर प्लांट के लिए एक रिकॉर्ड है।

माननीय मुख्यमंत्री जी, बगल के राज्य गुजरात में बैठे हुए, राजस्थान के सामाजिक विकास के साथ-साथ प्रदेश के अर्थिक विकास में आपके लीडरशिप के बारे में एक दृष्टिकोण रखने का सौभाग्य मुझे भी प्राप्त हुए है। आपने जिन सामाजिक कल्याण योजनाओं को लागू किया है, जैसे जागृति बैक टू वर्क योजना, शक्ति उड़ान योजना और मुख्यमंत्री अनु-प्रीति कोचिंग योजना, ये सभी रोजगार पैदा करने में ट्रेंडसेटर साबित हुई हैं, और एजुकेशन व हेल्थकेयर के लिए अधिक और सस्ती पहुंच को सक्षम करते हैं, जिससे सामाजिक सुरक्षा मजबूत होती है। ये योजनाएं भारत के लिए उसका स्केल, उसके इरादे और उसके प्रभाव में बेंचमार्क रही हैं।

आर्थिक क्षेत्र में आपके विज़न ने, राजस्थान को हमारे देश का सोलर एनर्जी लीडर में बदलने की नींव रखी है। आपको रिन्यूएबल एनर्जी की वैश्विक राजधानी में से एक में, जिसे कई लोग दुर्गम थार रेगिस्तान कहते हैं, को पुनर्व्यवस्थित करते हुए देखना बेहद आकर्षक है।

आपके विज़न के प्रति हमारी प्रतिबद्धता, हमारे कार्यों में साफ़ दिखाई देती है। राजस्थान सरकार के साथ हमारा जॉइंट वेंचर, जिसके कारण 10,000 मेगावाट का एक पूरी तरह से काम करने वाला सोलर पार्क बन गया है, जो पहले से ही 1,500 मेगावाट से अधिक ग्रीन पावर का उत्पादन कर रहा है। साथ ही, राजस्थान में रिन्यूएबल पावर में हमारे ग्रुप के डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट में लगातार तेजी जारी है और हमने पहले ही 20,000 करोड़ रुपये के निवेश पर 4,000 मेगावाट से अधिक की परियोजनाओं को चालू कर दिया है।

इसके अलावा पिछले एक दशक में हम, राजस्थान को 4,300 मेगावाट से अधिक थर्मल पावर उत्पन्न करने में मदद करने के लिए फ्यूल की सप्लाई कर रहे हैं। हम 19 ग्रिड सब-स्टेशनों और एसोसिएटेड हाई-वोल्टेज ट्रांसमिशन लाइनों को ऑपरेट कर रहे हैं, जिसमें किशनगढ़ में ड्राई पोर्ट कंटेनर टर्मिनल का संचालन, जयपुर एयरपोर्ट का मैनेजमेंट और विस्तार, साथ ही अलवर और बूंदी में दो एडिबल ऑइल मैन्युफैक्चरिंग प्लांट्स का संचालन शामिल है।

कुल मिलाकर, मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि अदाणी समूह, पहले ही राजस्थान राज्य के कई इंडस्ट्रियल सेक्टर्स में 35,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश कर चुका है।

चलिए अब मैं भविष्य के निवेशों के बारे में बात करता हूं।

रिन्यूएबल एनर्जी बिज़नेस में अपने निवेश को जारी रखते हुए, 50,000 करोड़ रुपये के निवेश के साथ एक और 10,000 मेगावाट, कार्यान्वयन के अंतर्गत है और यह अगले 5 वर्षों में आगे बढ़ते हुए पूरी तरह चालू हो जाएगा। इस संदर्भ में अभी एक हफ्ते पहले, हमने दुनिया के सबसे बड़े विंड-सोलर सौर हाइब्रिड पावर प्लांट का व्यावसायिक संचालन भी हासिल किया है और यह यहाँ राजस्थान में ही है।

अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी के अधिग्रहण के बाद, अब हम भारत में दूसरे सबसे बड़े सीमेंट निर्माता बन गए हैं। जबकि हमारे पास पहले से ही तीन सीमेंट प्लांट्स और चूना पत्थर माइनिंग संपत्तियां हैं, और हमारी क्षमता विस्तार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा, राजस्थान में लगातार जारी रहेगा। हम राज्य में अपनी सीमेंट निर्माण क्षमता को दोगुना करने के लिए और 7,000 करोड़ रुपये के निवेश की उम्मीद कर रहे हैं।

यहां और भी बहुत कुछ है। एक्सेक्यूशन और एक्सपांशन के विभिन्न चरणों में जारी अन्य प्रोजेक्ट्स के अंतर्गत, जयपुर एयरपोर्ट का वर्ल्ड क्लास फैसिलिटी में विस्तार करना, पीएनजी और सीएनजी की आपूर्ति के लिए हमारे नेटवर्क का विकास करना और इंडस्ट्रियल, कमर्शियल, ट्रांसपोर्ट और डोमेस्टिक कंस्यूमर्स और रिन्यूएबल पावर जनरेशन के लिए नए ट्रांसमिशन प्रोजेक्ट्स शामिल हैं।

सभी ऑन गोइंग और फ्यूचर इंवेस्टमेंट्स को मिलाकर, हम अगले 5 से 7 वर्षों में राजस्थान में अतिरिक्त 65,000 करोड़ रुपये का निवेश करने और 40,000 से अधिक डायरेक्ट और इनडायरेक्ट रोजगार सृजित करने का अनुमान लगाते हैं।

एनर्जी ट्रांजीशन पर, अदाणी समूह भी दुनिया के सबसे बड़े दांवों में से एक लगा रहा है। इस प्रक्रिया में, हम सबसे सस्ती सोलर और विंड पावर उत्पन्न करने की हमारी क्षमता को देखते हुए, ग्रीन हाइड्रोजन पर दांव लगा रहे हैं। मेरा मानना है कि राजस्थान के रेगिस्तानों को ‘एनर्जी ट्रांजीशन को सक्षम बनाने वाली नौकरियों के नखलिस्तान’ में बदलने के लिए ग्रीन हाइड्रोजन उत्पन्न करने का यह एक ऐसा अवसर है जो किसी अन्य राज्य के पास नहीं है। माननीय मुख्यमंत्री जी, यह राजस्थान के सतत औद्योगिक विकास के लिए, आपके विजन के अनुरूप एक और गेम चेंजर साबित होगा।

गहलोत जी, जिस तरह राजस्थान के योद्धाओं ने मरुभूमि की अपनी समझ को, सबसे बड़ी ताकत बना लिया था, उसी तरह आपने एक ऐसा आंदोलन चलाया है जो राजस्थान के रेगिस्तान को फिर से राज्य की सबसे बड़ी ताकत बना रहा है।

मैं आपको और आपकी टीम को शुभकामनाएं देता हूं।

शुक्रिया।

जय हिन्द

Loading...

Check Also

किसानों की आय बढ़ाने में कृषि पर्यटन का हो सकता बहुत बड़ा योगदान : देवेश चतुर्वेदी

उत्तर प्रदेश पर्यटन की ओर से कृषि पर्यटन दिवस पर इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित ...