Breaking News

विराट ब्रिगेड ने दो साल पहले श्रीलंका का ऐसे किया था सफाया

भारत ने अगस्त 2015 में पिछले श्रीलंका दौरे पर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 2-1 से जीती थी. सबसे बढ़कर पहला टेस्ट हारने के बाद टीम इंडिया ने इस सीरीज पर कब्जा किया था. दरअसल, विराट कोहली की कप्तानी में भारत की यह पहली सीरीज जीत थी. और अब दो साल बाद एक बार फिर टीम इंडिया श्रीलंका दौरे पर है, जहां तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट 26 जुलाई से खेला जाएगा.

पिछली बार कम अनुभव के बावजूद भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन कर मेजबान श्रीलंका को हराया था. कप्तान कोहली का कहना है कि उसके बाद ही हमें विश्वास हो पाया था कि हम किसी भी परिस्थिति से मैच जीत सकते हैं. उस सीरीज जीत के बाद उन्हें ऐसा लगा था कि टीम अब घर से बाहर भी जीत हासिल कर सकती है.

गॉल में खेले गए सीरीज के पहले टेस्ट में मिली थी मात

सीरीज का पहला टेस्ट मैच श्रीलंका ने 63 रन से जीता. आर. अश्विन ने 6 विकेट लेकर श्रीलंका की पाहली पारी 183 रनों पर रोक दी थी. जबाव में भारत ने अपनी पहली पारी में शिखर धवन और विराट कोहली की शतकीय पारियों की मदद से 375 रन बनाए. दूसरी पारी में श्रीलंका 367 रन बनाए और 176 रनों के मामूली टारगेट के सामने भारतीय टीम 112 रन पर ढेर हो गई. इसके लिए जिम्मेवार थे रंगना हेराथ, जिन्होंने अपने स्पिन से 7 विकेट झटक लिए.

कोलंबो में जबर्दस्त वापसी, दूसरे टेस्ट में 278 रनों से जीत

इसके बाद भारत ने दूसरे टेस्ट में जोरदार वापसी की और कोलंबो में खेला गया दूसरा टेस्ट मैच 278 रनों से जीत लिया और सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली. लोकेश राहुल के शतक से भारत ने पहली पारी में 393 रन बनाए. श्रीलंका ने अपनी पहली पारी में 306 रन बनाए, जिससे भारत को 87 रनों बेशकीमती बढ़त मिल गयी. दूसरी पारी में अजिंक्य रहाणे की 126 रनों की पारी की बदौलत भारत ने 325 रन बनाए. 413 रनों के लक्ष्य के आगे श्रीलंका की दूसरी पारी 134 रनों पर सिमट गई.

श्रीलंका में 22 साल बाद भारत ने टेस्ट सीरीज जीती

सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच भी भारत ने 117 रनों से जीत लिया. इस टेस्ट में चेतेश्वर पुजारा ने 145 रनों की पारी के सहारे भारत ने अपनी पहली पारी में 312 रन बनाए. श्रीलंका की पहली पारी 201 रनों पर सिमट गई. ईशांत शर्मा ने 5 विकेट निकाले. दूसरी पारी में निचले क्रम की बल्लेबाजी के सहारे भारत ने 274 रन बनाए. जिससे श्रीलंका को 386 रनो का टारगेट मिला . लेकिन मेजबान टीम 268 रन पर ढेर हो गई और भारत ने 117 रन से यह टेस्ट जीत कर सीरीज को 2-1 से अपने नाम कर लिया. साथ ही वहां 22 साल बाद भारत ने कोई टेस्ट सीरीज जीती.

श्रीलंका पर सीरीज फतह के बाद से अजेय है टीम इंडिया

श्रीलंका पर 2015 की सीरीज फतह के बाद से टीम इंडिया ने एक भी सीरीज नहीं गंवाई है.  उसने आईसीसी टेस्ट टीम रैंकिंग में पहले स्थान पर कब्जा जमाए रखा है. विराट की कप्तानी में पिछले श्रीलंका दौरे से पहले भारत को दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट सीरीज में मात दी थी. ऑस्ट्रेलिया दौरे (दिंसबर 2014) के दौरान महेंद्र सिंह धोनी ने अचानक टेस्ट से संन्यास ले लिया था और टीम की कमान कोहली के हाथों में आ गई थी. हालांकि इसके बाद कप्तान के तौर पर कोहली को बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट (जनवरी 2015) में ड्रॉ से संतोष करना पड़ा था.

भारत की लगातार सीरीज जीत

1. 2015 श्रीलंका को 2-1 से हराया, 3 मैचों की सीरीज थी

2. 2015-16 द. अफ्रीका को 3-0 से हराया, 4 मैचों की सीरीज थी

3. 2016 वेस्टइंडीज को 2-0 से हराया, 4 मैचों की सीरीज थी

4. 2016-17 न्यूजीलैंड को 3-0 से हराया, 3 मैचों की सीरीज थी

5. 2016-17 इंग्लैंड को 4-0 से हराया, 5 मैचों की सीरीज थी

6. 2016-17 बांग्लादेश को 1-0 से हराया, 1 मैच की सीरीज थी

7. 2016-17 ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया, 4 मैच की सीरीज रही

Loading...

Check Also

मूक – बधिरों के लिए आयोजित 6वीं आईडीसीए टी20 नेशनल क्रिकेट चैंपियनशिप 2022 के फाइनल मुकाबले में हरियाणा ने मारी बाजी

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, आगरा : बधिरों के लिए आयोजित 6वीं आईडीसीए टी20 नेशनल क्रिकेट ...