Breaking News

यूपी में बीते दिनों रेल हादसों की वजह से रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने दिया इस्तीफा

यूपी में पांच दिनों में हुए दो बड़े रेल हादसों के बाद रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। शनिवार को खतौली में कलिंग उत्कल एक्सप्रेस पटरी से उतर गई थी, जिसमें 22 लोगों की मौत हो गई थी और सैकड़ों घायल हो गए थे।
वहीं बुधवार तड़के औरेया जिले के पाता और अछल्दा स्टेशन के बीच कैफियत एक्सप्रेस की एक डंपर से टक्कर होने के बाद पटरी से उतर गई थी। इस हादसे में 74 लोग घायल हुए हैं, जिनका इलाज चल रहा है।
आजमगढ़ से दिल्ली आ रही कैफियत एक्सप्रेस कानपुर और इटावा के बीच हादसे का शिकार हो गई। हादसा औरेया के पास अछल्दा रेलवे स्टेशन के नजदीक हो गया। रात 2.40 बजे ट्रेन एक डंपर से टकरा गई, जिसकी वजह से ट्रेन के इंजन समेत 10 डिब्बे पटरी से उतर गए।

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक राहत और बचाव कार्य पूरा हो गया है। इस बड़े हादसे में किसी के मरने की खबर तो नहीं है लेकिन 21 लोग घायल हुए हैं। कानपुर रेंज के आईजी के मुताबिक ऐसा लगता है कि ट्रैक पर पहले से ही डंपर पड़ा हुआ था।

शनिवार को उत्कल एक्सप्रेस भीषण दुर्घटना का शिकार हुई थी। पुरी से हरिद्वार जा रही उत्कल एक्सप्रेस  मुजफ्फरनगर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। इस दुर्घटना में 22 लोग मारे गए थे। इसके बाद रेलमंत्री सुरेश प्रभु पर विपक्ष ने हमला किया और लापरवाही का आरोप लगाते हुए इस्तीफे की मांग की।

मुजफ्फरनगर रेल हादसे में सख्त कदम उठाते हुए सीनियर डिविजनल इंजीनियर, असिसटेंट डिविजनल इंजीनियर, सीनियर सेक्शन इंजीनियर, जेई पाथ-वे को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं चीफ ट्रैक इंजीनियर नार्दन रेलवे का ट्रांसफर कर दिया गया है। इसके अलावा दिल्ली के डीआरएम, नार्दन रेलवे के जीएम और मेंबर इंजीनियर रेलवे बोर्ड को छुट्टी पर भेज दिया गया है। इसके अलावा सात कर्मचारियों को भी सस्पेंड कर दिया गया है।

Loading...

Check Also

यूपी को शीघ्रता से उर्वरक सप्लाई के लिए कृषि मंत्री शाही ने रेलवे बोर्ड के चेयरमैन से की मुलाकात

राहुल यादव, लखनऊ : कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही ने उत्तर प्रदेश में डीएपी उर्वरक की ...