Breaking News

परिवहन मंत्री ने अधिकारियों के साथ श्रीराम मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा तैयारियों की समीक्षा बैठक की

अयोध्या परिक्षेत्र में परिवहन निगम संचालित करेगा 150 इलेक्ट्रिक बसें : दयाशंकर सिंह

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ : उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर सिंह ने आज परिवहन निगम के सभागार कक्ष में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी आरटीओ, एआरटीओ, आरएम, एआरएम के साथ अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले भगवान श्रीराम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा की तैयारियों की समीक्षा बैठक की। उन्होंने कहा कि यह हम सबके लिए एक सौभाग्य है कि लगभग 500 वर्षों के इन्तजार के पश्चात भगवान श्रीराम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा के हम लोग साक्षी बनने जा रहे हैं। परिवहन विभाग एवं निगम के सभी अधिकारी और अधिक बेहतर ढंग से कार्य करें। अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर, सुखद, आरामदायक परिवहन सेवाएं मुहैया हों। बसों में साफ-सफाई रखें, जिससे कि श्रद्धालुओं को गुड फील हो। 22 जनवरी की तैयारियों के दृष्टिगत सबसे अधिक जिम्मेदारी परिवहन निगम एवं परिवहन विभाग की है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु 22 जनवरी के पश्चात भगवान श्रीराम के दर्शन करने अयोध्या आएंगे। सभी आरटीओ, एआरटीओ, निजी वाहन स्वामियों के साथ अपने स्तर से मीटिंग करें और परिवहन निगम के साथ-साथ निजी बसें भी फूल-माला से सुसज्जित रहें, इसके लिए प्रयास करें। बसों में 14 जनवरी तक साउण्ड बाक्स लग जाएं और श्रद्धालुओं को रामधुन सुनाई पड़े। इसके साथ निजी वाहन स्वामियों की बसों में भी रामधुन बजे इसके लिए उन्हें प्रेरित किया जाय। उन्होंने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देशों के अनुपालन में परिवहन निगम अयोध्या परिक्षेत्र में 150 इलेक्ट्रिक बसों का संचालन करेगा। साथ ही उन्होंने सम्भागीय परिवहन अधिकारियों एवं क्षेत्रीय प्रबंधकों को निजी बस संचालकों से वार्ता कर अपने-अपने क्षेत्र से कम से कम 05 बसें लगाये जाने का प्रयास करें, जिससे कि एक अच्छी परिवहन सेवा श्रद्धालुओं को मिल सके। परिवहन मंत्री ने कहा कि लखनऊ से अयोध्या, प्रयागराज से अयोध्या, चित्रकूट से अयोध्या, वाराणसी से अयोध्या एवं गोरखपुर से अयोध्या आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या अधिक रहेगी। सभी को परिवहन सेवाएं समय से प्राप्त हों, इसके लिए आवश्यकतानुसार अन्य क्षेत्रों से अधिकारी-कर्मचारी लगाये जाएं। उन्होंने कहा कि ड्राइवर्स-कन्डक्टर्स वर्दी में रहें, धूम्रपान, गुटखा इत्यादि का सेवन न करें, इसका विशेष ध्यान दिया जाय। श्रद्धालुओं के साथ मृदुल व्यवहार रखें। वाहनों में किराया सूची एवं डैशबोर्ड पर ड्राइवर का फोटो सहित नाम इत्यादि चस्पा हो। अधिक किराया वसूली की शिकायत पर सम्बंधित के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि अयोध्या जाने वाली बसों में भगवान श्रीराम की मंदिर वाले फोटो चस्पा करें, जिससे कि श्रद्धालुओं को स्वतः अयोध्या जाने वाली बसों के बारे में जानकारी हो जाय। टोल प्लाजों पर हेल्पडेस्क स्थापित किये जाएं साथ ही साइनेज के माध्यम से श्रद्धालुओं को जानकारी हो, इसकी व्यवस्था करें। अयोध्या से 200 किमी0 की परिधि में परिवहन विभाग की इन्टरसेप्टर गाड़ियां संचालित रहें, जिससे कि ओवर स्पीडिंग को रोका जा सके। रेलवे स्टेशन एवं एयरपोर्ट पर इन्टरसेप्टर गाड़ियां अवश्य रहें। परिवहन विभाग का कन्ट्रोल रूम 24×7 कार्यशील रहे, जिससे श्रद्धालुओं/यात्रियों को जानकारी प्राप्त हो सके।


  	
Loading...

Check Also

आगरा के विकास एवं धार्मिक पर्यटन के लिए मंत्री योगेन्द्र उपाध्याय ने रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से की मुलाकात

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ / नई दिल्ली / आगरा : उत्तर प्रदेश के उच्च ...