Breaking News

उरे ने मई माह में यात्री, पार्सल एवं अन्य कोचिंग आय में 987.38 करोड़ रुपए अर्जित किये

सूर्योदय भारत समाचार सेवा : उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक शोभन चौधुरी ने बताया कि विभिन्न चुनौतियों के बावजूद, उत्तर रेलवे ने चालू वित्त वर्ष 2023-24 के मई माह के दौरान माल लदान, यात्री, पार्सल और अन्य कोचिंग आय में महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की है।

मई-2023 के महीने में उत्तर रेलवे की मुख्‍य उपलब्धियों का विवरण निम्‍नानुसार है:

माल लदान :

09.68 मिलियन टन की मूल माल ढुलाई की (उर्वरक – 5.24%, सीमेंट -15.48% पीओएल-10.27%) 2099 वैगनों (0.14 मीट्रिक टन) के लदान से 14.35 करोड़ रुपये की आय हुई, जोकि एक माह का अब तक का सर्वाधिक वैगन लदान है। यह मुख्य रूप से रेलवे के बीडीयू (बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट्स) द्वारा किए गए अच्छे प्रयासों के कारण संभव हुआ है।
पिछले वर्ष मई-2022 के 11.58 एमटी के मुकाबले 0.95% के सुधार के साथ 11.69 एमटी की अनलोडिंग हासिल की ।
उत्तर रेलवे ने मई 2022 में 604 के मुकाबले 710 लंबी दूरी की ट्रेनें चलाईं, जो 17.55% की वृद्धि दर्शाता है ।

यात्री आय :

उत्तर रेलवे ने मई, 2023 के महीने में 987.38 करोड़ रुपए की आय अर्जित की, जोकि पिछले वर्ष की इसी अवधि के 883.87 करोड़ रूपए से 11.71% अधिक है ।
अन्य कोचिंग में 104.29 करोड़ रुपए, माल आय से 566.50 करोड़ रुपए और विविध आय से 41.37 करोड़ रुपए अर्जित किए ।

टिकट चेकिंग :

उत्तर रेलवे पर मई, 2023 में चलाए गए एक माह लंबे विशेष टिकट जांच अभियान के परिणामस्वरूप 26 करोड़ रुपये आय के आंकड़े को पार किया गया, जोकि पिछले वर्ष की इसी अवधि से 21% अधिक है।
यात्री विपणन
मई, 2023 के दौरान, उत्तर रेलवे से 87 अतिरिक्त आरक्षित ग्रीष्मकालीन विशेष रेलगाड़ियां चलाई गईं, जिनसे 9.23 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व प्राप्त हुआ। इसके अलावा, कालका-शिमला सैक्‍शन पर अनारक्षित ग्रीष्मकालीन विशेष ट्रेनों के 31 फेरे संचालित किए गए।
मई, 2023 के दौरान, उत्‍तर रेलवे की रेलगाड़ियों में 165 अतिरिक्त डिब्‍बे जोड़कर लगभग 1.24 करोड़ रुपए का अतिरिक्त राजस्व प्राप्त हुआ !

Loading...

Check Also

सेना चिकित्सा कोर में 219 रंगरूट सैनिक के रूप में शामिल

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ : चतुर्थ श्रेणी नर्सिंग सहायक की सत्यापन परेड 13 जून ...