Breaking News

अब बो दिन दूर नहीं है जब हम विकसित देशों की सूची में शामिल होंगे : कश्मीरी लाल

एमएसएमई उत्पाद एवं सेवाओं की मार्केटिंग पर विशेषज्ञों ने दिए विख्यान

डॉ अखिलेश यादव, सूर्योदय भारत, आगरा : एमएसएमई मंत्रालय भारत विकास कार्यालय आगरा द्वारा शनिवार को एमएसएमई उत्पाद एवं सेवाओं की मार्केटिंग पर एक दिवसीय राष्ट्रीय सेमीनार का आयोजन संस्कृति भवन, आगरा में किया गया। सेमीनार में उत्तर भारत के आदा दर्जन से प्रदेशों के एमएसएमई उद्यमियों ने सहभगिता की। समारोह में मुख्य वक्ता के रूप में स्वदेशी जागरण मंच के अखिल भारतीय संगठक कश्मीरी लाल जी शामिल हुए इस मौके पर उन्होंने भारत को आर्थिक महाशक्ति बनाने के लिए एमएसएमई उद्यमियों का आह्वान किया अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि अब बो दिन दूर नहीं है जब हम विकसित देशों की सूचि में शामिल होंगें।

इससे पूर्व राष्ट्रीय सेमीनार का दीप प्रज्वलित कर उद्घाटन कार्यक्रम अध्यक्षा डॉ. भीमराव आम्बेडकर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. आशु रानी, मुख्य वक्ता कश्मीरी लाल जी, मुख्य अतिथि लखनऊ विश्विद्यालय में अर्थशास्त्र के विभागाध्यक्ष प्रो मनोज कुमार अग्रवाल, एमएसएमई डीओ आगरा के उप निदेशक बृजेश कुमार यादव, सेमीनार संयोजक एवं सहायक निदेशक डॉ. मुकेश शर्मा एवं डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा के डीन प्रो. लवकुश मिश्रा ने सयुक्त रूप से किया।

सेमीनार के मुख्य वक्ता कश्मीरी लाल अखिल भारतीय संगठक स्वदेशी जागरण मंच ने एमएसएमई उद्यमियों को अपने उत्पाद की ब्रांडिंग कराने का आह्वान किया। अच्छे उत्पाद एवं सेवाएं देने वाले एमएसएमई उद्यमियों को अपनी ब्रांडिंग करने में पीछे नहीं होना चाहिए। भारतीय उपभोक्ता अच्छे स्वदेशी उत्पाद खरीदना चाहते हैं। उद्यमी अपने उत्पाद की गुणवत्ता बनाए रखते हुए, लोकल उत्पाद को वोकल बनाएं और इसके लिए मार्केटिंग के नए टूल्स जैसे ई-कॉमर्स डिजिटल मार्केटिंग अपनाएं। भौगोलिक पहचान वाले उत्पाद एवं सेवाओं को उपभोक्ता उस शहर एवं क्षेत्र की पहचान से स्वीकार करते हैं अतः जीआई रजिस्ट्रेशन करा कर इस हेतु कार्य करना चाहिए ।

प्रो. मनोज कुमार अग्रवाल विभागाधक्ष (अर्थशास्त्र) लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ ने कहा कि देश सोने की चिड़िया सूक्ष्म लघु उद्यमियों के सहयोग से था जिस पर अंग्रेजी शासन काल में ध्यान नहीं दिया गया और गांव कस्बों से लघु एवं कुटीर उद्योग समाप्त हुए !

देश को सोने की चिड़िया पुनः बनाना है तो लघु एवं कुटीर उद्योगों को आगे बढ़ा कर ही बन पाएगा | उन्होंने भारतीय अर्थव्यवस्था एवं वैश्विक अर्थव्यवस्था के बारे में बताया, एवं कहा कि भारत की अर्थव्यवस्था सुदृढ़ है।
प्रो. आशु रानी कुलपति – डॉ. भीमराव आम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा ने संगोष्ठी आयोजन के अवसर पर बताया कि उद्योग संगठन, एमएसएमई विभाग, बैंक एवं विश्वविद्यालय का मिलकर यह एक अच्छा आयोजन है विश्वविद्यालय इस प्रकार के आयोजन में सदैव सहयोग करेगा | ऐसी थीम पर महिलाओं के लिए विशेष संगोष्ठी की जा सकती है | विश्वविद्यालय एमएसएमई के साथ मिलकर भावी उद्यमियों को बढ़ाने के लिए प्रयास करेगा | आगामी समय में विश्वविद्यालय प्रथम पीढ़ी के उद्यमियों की सफल कहानियां के प्रकाशन पर कार्य करेगा।

स्वागत भाषण में बीके यादव उपनिदेशक एमएसएमई ने सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए एमएसएमई विभाग की ओर से आयोजित इस सेमिनार के बारे में विस्तृत रूप से बताया। राकेश एमा उपमहाप्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक जोनल कार्यालय आगरा ने मुद्रा योजना, स्टैंड अप इंडिया, एमएसएमई क्रेडिट के बारे में जानकारी प्रदान की और उद्यमियों की समस्याओं का निवारण किया और बताया कि भारतीय स्टेट बैंक सदैव एमएसएमई के साथ है। नेशनल चैंबर ऑफ इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स आगरा के उपाध्यक्ष श्री मयंक मित्तल ने अवगत कराया की एमएसएमई इकाइयों के हितों की रक्षा के लिए चेंबर ने सदैव प्रयास किया है एमएसएमई के हित के लिए माननीय न्यायालयमें उचित प्रकार से प्रतिवेदन किया और कई मुद्दों पर एमएसएमई की जीत भी हुई है।

प्रो लवकुश मिश्रा डीन प्रबंधन डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा ने कृषि उत्पादों के प्रसंस्करण कर निर्यात तक की बात कही | इस संबंध में उन्होंने कहा अपने आसपास के क्षेत्र के आलू की बंपर पैदावार हुई है। आलू का पाउडर बनाकर भी किसान हित में और देश हित में काम किया जा सकता है। किसान के खेत में टमाटर अच्छी कीमत नहीं मिलने पर सड़ने लगता है दूसरी तरफ देश में प्रतिवर्ष लगभग तीन हजार करोड़ का आयात किया जाता है।

तकनीकी सत्र में जैम पोर्टल सुविधा प्रदायक मनेन्द्र पाल सिंह ने सरकारी क्षेत्र में एमएसएमई उत्पाद एवं सेवाओं की मार्केटिंग के संबंध में जानकारी प्रदान की। प्रो. मदन लाल पूर्व फैकल्टी आईआईएफटी दिल्ली ने एक्सपोर्ट विपणन के बारे में विस्तृत रूप से बताया, सांई नेट टेक्नोलॉजी के राजीव शर्मा ने ई-कॉमर्स एवं डिजिटल मार्केटिंग पोर्टल्स के माध्यम से एमएसएमई विपणन बढ़ाने के बारे में जानकारी प्रदान की ।

सहायक निदेशक एमएसएमई ने अशोक कुमार गौतम, समीर अग्रवाल वरिष्ठ शाखा प्रबंधक एनएसआइसी, पुष्पेंद्र सूर्यवंशी राष्ट्रीय एससी /एसटी हब , सिडबी के प्रबंधक आकाश सोनी, मुख्य प्रबंधक भारतीय स्टेट बैंक इंद्रजीत राणा ने विभागीय एमएसएमई विपणन योजनाओं की जानकारी प्रदान की।

सेमिनार परिसर में एमएसएमई की अन्य योजनाओं की विस्तृत जानकारियां स्टैंडी आदि के माध्यम से दी गई । ओडीओपी योजना के अंतर्गत पश्चिमी उत्तर प्रदेश क्षेत्र में उत्पाद थीम पर बने सेल्फी सेल्फी प्वाइंट उद्यमियों ने जमकर फोटोग्राफी की। सेमीनार में लगभग 200 उद्यमियों ने भाग लिया। सेमीनार को सोशल मीडिया पेज पर लाइव भी किया गया। तकनीकी सत्र में विशेष सहयोग आरबीएस कालेज प्राचार्य प्रो विजय कुमार श्रीवास्तव, उपायुक्त जीएसटी राकेश नारायण मिश्र,सहायक प्रोफेसर डॉ. सीमा सिंह, एजीएम एसबीआई अंचल कार्यालय राजीव मोहन शर्मा, प्रोफेसर केके पचौरी का रहा | इस अवसर पर एमएसएमई विकास कार्यालय के अभिषेक सिंह, सुशील कुमार, सुनील कुमार पांडे, भावना कुमारी डॉ. मनीष मोहन वर्मा, सीसीएलए के अजय शर्मा, बृजेश शर्मा, आदि का विशेष सहयोग रहा। सीए संजीव माहेश्वरी, सीए प्रमोद चौहान, सीएस अनुज अशोक, सतेंद्र त्यागी, अंकिता यादव,आरती तोमर, पूजा तोमर, एम के सिंह , सा रिहान अहमद आदि की गरिमामयी उपस्थिति रही।

Loading...

Check Also

दो दिलों का सफर : सेंको गोल्ड एंड डायमंड्स का ब्राइडल ज्वेलरी कलेक्शन 2024 ‘प्यार का गठबंधन’ लॉन्च

सूर्योदय भारत समाचार सेवा : भारत के प्रमुख ज्वेलरी रिटेलर, सेंको गोल्ड एंड डायमंड्स को ...