Breaking News

हमारे लिए खुशखबरी है, हम इस बात को लेकर खुश एवं गौरवान्वित हैं : ममता बनर्जी

कोलकाता। लोकप्रिय मिठाई रसगुल्ले को लेकर पश्चिम बंगाल और ओडिशा के बीच चली आ रही रस्साकशी अब समाप्त हो गई है और यह तय हो गया है कि रसगुल्ला मूल रूप से पश्चिम बंगाल में बनना शुरू हुआ था। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज बताया कि उनके राज्य को रसगुल्ले के लिए भौगोलिक संकेत या जीआई का दर्जा दिया गया है।इस समय लंदन में मौजूद ममता ने ट्वीट किया, ‘‘हमारे लिए खुशखबरी है। हम इस बात को लेकर खुश एवं गौरवान्वित हैं कि पश्चिम बंगाल को रसगुल्ले के लिए जीआई का दर्जा दिया गया है।’’

इस बात को लेकर पश्चिम बंगाल और पड़ोसी ओडिशा के बीच जून 2015 से इस बात को लेकर कानूनी लड़ाई चल रही है कि रसगुल्ले का मूल कहां है। विश्व व्यापार संगठन के तहत जीआई एक ऐसा संकेत है जो किसी उत्पाद के किसी एक विशेष स्थान से उद्भव के बारे में बताता है। इस बात को लेकर पश्चिम बंगाल और पड़ोसी ओडिशा के बीच जून 2015 से इस बात को लेकर कानूनी लड़ाई चल रही है कि रसगुल्ले का मूल कहां है।  पश्चिम बंगाल और ओडिशा के बीच चली आ रही रस्साकशी अब समाप्त हो गई है और यह तय हो गया है कि रसगुल्ला मूल रूप से पश्चिम बंगाल में बनना शुरू हुआ था।
Loading...

Check Also

लोक दल के हजारों पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं के साथ सुनील सिंह ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का किया स्वागत

अनुपूरक न्यूज एजेंसी, अलीगढ़। लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी सुनील सिंह के नेतृत्व में लोक ...