Breaking News

हमारे लिए खुशखबरी है, हम इस बात को लेकर खुश एवं गौरवान्वित हैं : ममता बनर्जी

कोलकाता। लोकप्रिय मिठाई रसगुल्ले को लेकर पश्चिम बंगाल और ओडिशा के बीच चली आ रही रस्साकशी अब समाप्त हो गई है और यह तय हो गया है कि रसगुल्ला मूल रूप से पश्चिम बंगाल में बनना शुरू हुआ था। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज बताया कि उनके राज्य को रसगुल्ले के लिए भौगोलिक संकेत या जीआई का दर्जा दिया गया है।इस समय लंदन में मौजूद ममता ने ट्वीट किया, ‘‘हमारे लिए खुशखबरी है। हम इस बात को लेकर खुश एवं गौरवान्वित हैं कि पश्चिम बंगाल को रसगुल्ले के लिए जीआई का दर्जा दिया गया है।’’

इस बात को लेकर पश्चिम बंगाल और पड़ोसी ओडिशा के बीच जून 2015 से इस बात को लेकर कानूनी लड़ाई चल रही है कि रसगुल्ले का मूल कहां है। विश्व व्यापार संगठन के तहत जीआई एक ऐसा संकेत है जो किसी उत्पाद के किसी एक विशेष स्थान से उद्भव के बारे में बताता है। इस बात को लेकर पश्चिम बंगाल और पड़ोसी ओडिशा के बीच जून 2015 से इस बात को लेकर कानूनी लड़ाई चल रही है कि रसगुल्ले का मूल कहां है।  पश्चिम बंगाल और ओडिशा के बीच चली आ रही रस्साकशी अब समाप्त हो गई है और यह तय हो गया है कि रसगुल्ला मूल रूप से पश्चिम बंगाल में बनना शुरू हुआ था।
Loading...

Check Also

कौशांबी, प्रतापगढ़ में भाजपा को निपटाने के बाद “राजा भइया” मिर्जापुर में अनुप्रिया पटेल को सबक सिखायेंगे !

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ : लोकसभा चुनाव में ठाकुर मतों के लिये तरस गयी भाजपा ...