Breaking News

बीजेपी और आरएसएस के कार्यकर्ता अंग्रेजों के सहयोगी रहे और बदले में अंग्रेजों से पेंशन उठाते रहे: मल्लिकाअर्जुन खड़गे

अनुपूरक न्यूज एजेंसी, लखनऊ। आज भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के संगठनात्मक चुनाव के तहत अध्यक्ष पद के प्रत्याशी राज्यसभा सदस्य मल्लिकार्जुन खड़गे का राजधानी लखनऊ में उत्तर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे। उनके साथ भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव वल्लभ पंत एवं राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी भी मौजूद रहे।

मल्लिकाअर्जुन खड़गे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए वोट करने वाले पीसीसी डेलीगेट्स से मिलने आये थे और इस दौरान खड़गे ने मीडिया हाल में एक प्रेस वार्ता को भी सम्बोधित किया।

प्रेस वार्ता में गौरव वल्लभ ने खड़गे का राजनीतिक जीवन का परिचय कराया तद्पश्चात खड़गे ने अपने सम्बोधन में कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष पद हेतु गांधी परिवार के चुनाव लड़ने से मना करने के बाद मैंने अपने शुभचिन्तकों से सलाह मशविरा करने के उपरान्त चुनाव लड़ने का निर्णय लिया और जब मैंने अपना नामांकन किया तो विभिन्न प्रदेशों के वरिष्ठ एवं प्रमुख कांग्रेसजन नामांकन में मौजूद थे। कांग्रेस की मजबूती और कांग्रेस की विचारधारा को बचाने के लिए मैंने चुनाव लड़ने का निर्णय लिया। कांग्रेस में हो रहे संगठनात्क चुनाव और राहुल गांधी द्वारा की जा रही भारत जोड़ो यात्रा पर भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस तमाम सवाल खड़े कर रही है जिसका लोकतंत्र में विश्वास नहीं है और जो अंग्रेजों की फूट डालो शासन करो की नीति पर विश्वास करते हैं। देश की आजादी कांग्रेस ने दिलाई।भारतीय जनता पार्टी या संघ का कोई भी कार्यकर्ता देश की आजादी के लिए ना ही जेल गया और न ही फांसी पर लटका बल्कि इनके कार्यकर्ता अंग्रेजों के सहयोगी रहे और बदले में अंग्रेजों द्वारा पेंशन उठाते रहे।उन्होंने आगे कहा कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पर भारतीय जनता पार्टी सवाल कर रही है कि राहुल गांधी क्या जोड़ रहे हैं? तो उन्हें हम बताना चाहते हैं कि भारतीय जनता पार्टी जो लोकतंत्र समाप्त कर रही है, लोगों का आपस में लड़ा रही है, सरकारी उपक्रम बेंच रही है, सभी सरकारी संस्थाओं का दुरूपयोग कर रही है, अथाह बेरोजगारी और महंगाई से जनता त्रस्त है। पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने से जनता पीडित है। डालर के मुकाबले रूपये की घटती कीमत चिन्ताजनक है। महिलाओं, दलितों और छात्रों पर हो रहे अत्याचार और चीन द्वारा भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ पर सरकार की चुप्पी के खिलाफ देशवासियों को जागरूक करने के लिए है भारत जोड़ो यात्रा की जा रही है। राहुल सुबह यात्रा की शुरूआत ध्वजारोहण के साथ करते है। रास्ते में तमाम लोग उनके सम्पर्क में आते हैं और देश में व्याप्त तमाम समस्याओं को उनसे बताते हैं और मध्यान में राहुल गरीब, मजदूर, किसान, आदिवासी, दलित, उद्योगपति, नौकरीपेशे वालों, महिलाओं एवं छात्रों, स्वयं सहायता समूहों से अलग-अलग बैठकर उनकी समस्याओं को सुनते हैं, समझते हैं और समस्याओं को दूर करने का भरोसा देते हैं।

खड़गे ने कहा कि पूरे देश में मैं अपनी पार्टी के 9000 से ज्यादा डेलीगेट्स और शुभचिन्तकों से मिलकर अपने लिए समर्थन मांग रहा हूं। मैंने उदयपुर चिन्तन शिविर की जो घोषणायें हैं उसी को अपना घोषणापत्र बनाया है कि 50 प्रतिशत पद 50 वर्ष की नीचे की आयु के लोगों को दिये जायेंगे और अन्य जो भी घोषणायें हैं उन्हें मैं लागू करूंगा। मुझे पूरा भरोसा है कि सभी डेलीगेट्स का समर्थन मुझे मिलेगा।उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस के लिए उत्तर प्रदेश बहुत अहम प्रदेश है। प्रियंका गांधी वाड्रा के प्रभारी बनने के बाद उत्तर प्रदेश में लोगों का कांग्रेस के प्रति रूझान बढ़ा है। विधानसभा चुनाव में भले ही कांग्रेस को आशाअनुरूप नतीजे नहीं मिले लेकिन भविष्य में जनता कांग्रेस के प्रति आशातीत नज़रों से देख रही है। खड़गे ने आगे कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि अध्यक्ष पद चुनाव मैं जीतूंगा और इसमें उत्तर प्रदेश का अहम योगदान होगा।

इस अवसर पर भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव वल्लभ पंत ने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष पद का चुनाव आंतरिक लोकतंत्र का एक अनूठा उदाहरण है और भारत में ही नहीं पूरे विश्व के लोकतंत्र के लिए एक प्रेरणादायी नजीर है। मल्लिकाअर्जुन खड़गे के बारे में उन्होंने कहा कि खड़गे साहब के 55 वर्षाे के राजनैतिक जीवन में 51 साल तक वह संवैधानिक पदों पर रहे। संगठन में भी खड़गे ब्लाक अध्यक्ष, प्रदेश अध्यक्ष से लेकर अब भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष बनने जा रहे हैं, यह विश्व में अपने आप में इकलौती मिसाल है।

Loading...

Check Also

एमएसपी बहुत कम, किसानों से झूठ, छल और विश्वासघात बंद करो, सी-2+50% के हिसाब से एमएसपी की कानूनी गारंटी सुनिश्चित करो: किसान सभा

अनुपूरक न्यूज़ एजेंसी, नई दिल्ली। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने खरीफ फसलों ...