Breaking News

गृहमंत्री कह रहे कि हालात सामान्य हैं और मैं घर में नजरबंद हूं : महबूबा मुफ्ती

सूर्योदय भारत समाचार सेवा : पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती ने बुधवार को कहा कि उन्हें उत्तरी कश्मीर के पट्टन शहर में जाने से रोकने के लिए नजरबंद कर दिया गया. उन्होंने ट्वीट किया कि जब गृह मंत्री (अमित शाह) कश्मीर में स्थिति के सामान्य होने का ढोल पीटते हुए कश्मीर में घूम रहे थे तो मैं केवल एक कार्यकर्ता की शादी के लिए पट्टन जाने की इच्छा के कारण नजरबंद हूं. उन्होंने लिखा कि अगर किसी पूर्व मुख्यमंत्री के मौलिक अधिकारों को इतनी आसानी से सस्पेंड किया जा सकता है तो आम आदमी की दुर्दशा की कल्पना भी नहीं की जा सकती. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज बारामूला शहर में एक जनसभा को संबोधित करने वाले हैं.

कुछ दिन पहले ही पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जम्मू क्षेत्र में पहाड़ियों और गुर्जरों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि पीर पंजाल क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों से बहुत तनाव है, क्योंकि पहाड़ी समुदाय के लिए आरक्षण की बात हो रही है। भाइयों को दुश्मन बना दिया गया है. उन्हें एक-दूसरे के खिलाफ लड़ने के लिए तैयार किया जा रहा है. वह मीडिया के एक वर्ग में किए गए उन दावों के मद्देनजर दोनों समुदायों के बीच तनाव की खबरों का जिक्र कर रही थीं कि मंगलवार को राजौरी में एक रैली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पहाड़ी समुदाय के लिए नौकरियों और शिक्षा में आरक्षण की घोषणा करेंगे. मुफ्ती ने कहा कि गुर्जर और पहाड़ी सदियों से एक साथ रह रहे हैं और उन्हें एक-दूसरे के खिलाफ लड़वाना बंद किया जाना चाहिए.

उन्होंने कहा था कि मैं गुर्जर, बकरवाल और पहाड़ी समुदायों से एक-दूसरे के खिलाफ लड़ना बंद करने और याद रखने का अनुरोध करती हूं. सब कुछ भगवान द्वारा प्रदान किया जाता है. भगवान उसे वही देगा जिसके लिए वह व्यक्ति योग्य है. गृह मंत्री आएंगे और जाएंगे, भाजपा यहां आज है, लेकिन कल नहीं होगी. मुफ्ती ने कहा कि हालांकि, वह जो दुश्मनी, दरारें पैदा कर रहे हैं (वह बनी रहेंगी), आप सभी एक हैं, और एक ही जगह रहते हैं. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा ने पहले हिंदुओं और मुसलमानों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा किया और अब वह गुर्जरों एवं पहाड़ियों को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा कर रही है. उन्होंने कहा कि मैं आप सभी से इसे रोकने का अनुरोध करती हूं. जो किसी की किस्मत में है, वह उसे जरूर मिलेगा। एक साथ रहें और उनके (भाजपा) मंसूबों को नाकाम करें.

Loading...

Check Also

छठे चरण में भाजपा से फिसलती दिख रही हैं – बस्ती, आजमगढ़, सिद्धार्थनगर, अंबेडकरनगर, इलाहाबाद और डुमरियागंज सीटें !

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ : छठे चरण के 14 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में कुल औसत ...