Breaking News

अखिलेश यादव ने संविधान बचाओ-देश बचाओ समाजवादी पीडीए यात्रा को किया रवाना

अनुपूरक न्यूज एजेंसी, लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बुधवार को समाजवादी पार्टी प्रदेश मुख्यालय लखनऊ से समाजवादी अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल भारती के नेतृत्व में संविधान बचाओ- देश बचाओ समाजवादी पीडीए यात्रा को रवाना किया। इस अवसर पर अखिलेश यादव ने राहुल भारती और उनके करीब 100 साथियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह यात्रा कई जिलों में जाकर लोगों को समाजवादी पार्टी से जोड़ने का काम करेगी। पीडीए यात्रा पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यकों और पीड़ित अगड़ो को जोड़ेगी और समाजवादी आंदोलन को मजबूत करेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार संविधान और लोकतंत्र को खत्म कर रही है। पीडीए यात्रा और पीडीए पंचायत उसे बचाने का काम करेगी। पीडीए यात्रा के माध्यम से लोकतंत्र की रक्षा का संदेश गांव-गांव तक जाएगा। नए साल में परिवर्तन की आवाज उठी है। बदलाव होना तय है। अखिलेश यादव ने कहा कि हम इंडिया गठबंधन को मजबूत कर रहे हैं। हम पीडीए को मजबूत करके इंडिया गठबंधन को मजबूत करेंगे। लोकसभा चुनाव में हमारा पीडीए भाजपा के एनडीए को हराएगा। भाजपा के सबका साथ के नारे से गैरबराबरी समाप्त नहीं हो सकती है। पीडीए हमारे लिए भगवान है। समाजवादी पार्टी पिछड़े, दलितों, अल्पसंख्यकों को सम्मान और हक दिलाने की लड़ाई लड़ रही है। समाजवादी सरकार आने पर जातीय जनगणना कराकर सभी को सामाजिक न्याय दिलाया जाएगा। अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी समाजवादी मूल्यों को बचाने का काम कर रही है। समाजवादी पार्टी संविधान पार्टी है। इसलिए लोकतंत्र और संविधान बचाने की सबसे बड़ी जिम्मेदारी समाजवादियों की है। यादव ने कहा कि आज कुछ पार्टियां समाज में जहर घोलने का काम कर रही है। नफरत फैला रही है। श्री यादव ने कहा कि भाजपा सरकार से किसान -नौजवान सभी लोग दुःखी और परेशान हैं। महंगाई-बेरोजगारी से आम जनता त्रस्त है। भाजपा सरकार की गलत नीतियों के कारण इनके 10 साल के कार्यकाल में आर्थिक तंगी और कर्ज के चलते एक लाख से ज्यादा किसानों ने आत्महत्या कर ली है। भाजपा सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को ऐसे रास्ते पर पहुंचा दिया है जहां नौकरियां खत्म हो रही है। नौजवान सीवी लेकर घूम रहे हैं। पढ़े लिखे नौजवान वेटर और डिलीवरी बॉय की नौकरी करने पर मजबूर है। युवाओं को सम्मानजनक नौकरी नहीं मिल रही है। दूसरी ओर भाजपा सरकार तीर्थयात्रा पर है। पीड़ित लोगों की तकलीफ कौन सुनेगा? अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा सरकार जानबूझकर अग्निवीर योजना लाकर सेना में भी नौजवानों को आधी अधूरी नौकरी दे रही है। समाजवादी पार्टी की सरकार में अग्निवीर योजना खत्म करके नौजवानों को सम्मानजनक पहले जैसी सेना में नौकरी दी जाएगी। भाजपा सरकार लोकतांत्रिक परम्पराओं की धज्जियां उड़ा रही है। सरकार विधानसभा में सदस्यों के सवालों का जवाब नहीं देती। मैंने खुद छुट्टा सांडो की समस्या और छुट्टा जानवरों के कारण प्रदेश भर में हुई आम जनता और किसानों की मौत की सूची मांगी, स्वास्थ्य और बेरोजगारी के आंकड़ों पर सरकार से जवाब मांगा लेकिन भाजपा सरकार ने कोई जवाब नहीं दिया। सरकार विपक्ष के सवालों का जवाब नहीं देती। भाजपा सरकार चाहती है कि उससे कोई सवाल न करे। जब लोकसभा में सदस्यों के सवालों से बचने के लिए करीब 150 सांसदों को निलम्बित कर दिया गया तो इस सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है? समाजवादी अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल भारती ने संविधान बचाओ लोकतंत्र बचाओ पीडीए यात्रा के लिए अखिलेश यादव का धन्यवाद करते हुए कहा यह यात्रा गांव-गांव जाकर पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यकों को संविधान और लोकतंत्र पर हो रहे हमले से जागरूक करेगी। लोगों के बीच पीडीए की समस्याओं पर समस्याओं पर चर्चा करेगी। समाजवादी पार्टी के राज्य मुख्यालय लखनऊ से 17 जनवरी 2024 को प्रारम्भ ‘‘संविधान बचाओ-देश बचाओ, समाजवादी पीडीए यात्रा‘‘ 18 जनवरी को हरदोई, 19 जनवरी को शाहजहांपुर, 20 जनवरी को बदायूं, 21 जनवरी को सम्भल तथा 22 जनवरी को मुरादाबाद पहुंचेगी। यह समाजवादी पीडीए यात्रा 23 जनवरी को बिजनौर, 24 जनवरी को बाया हरिद्वार होते हुए 25 जनवरी को सहारनपुर, 26 जनवरी को शामली, 27 जनवरी को मुजफ्फरनगर, 28 जनवरी को मेरठ, 29 जनवरी को गाजियाबाद पहुंचेगी। यह यात्रा देश में भाजपा सरकार बदलने के पीडीए के सपने को पूरा करने की दिशा में काम करेगी। इस अवसर पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय, पूर्व मंत्री एवं राष्ट्रीय महासचिव अवधेश प्रसाद, पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, पूर्व विधायक मोहम्मद अरशद, मो0 शकील नदवी प्रदेश अध्यक्ष समाजवादी अल्पसंख्यक सभा, रामसागर यादव, समेत बड़ी संख्या में नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।पीडीए यात्रा में बृजलाल जाटव, कर्म सिंह, पुष्पेन्द्र रावत, कैलाश मालवीय, डॉ0 सत्यपाल सिंह, कामरान, गौरव कुमार, शादाब, रिजवान, नितीन, नरेश, सागर धानुक, किशन सिंह जाटव, सुजीत कुमार गौतम, संदीप कुमार सैनी, कृष्ण कुमार, आशीष कुमार, उमेश यादव, राजेश कुमार, संदीप नागर, कैप्टन हरभजन सिंह आदि प्रमुख नेता शामिल रहे।

Loading...

Check Also

राज्य में ध्वस्त विधि-व्यवस्था के खिलाफ 20 जुलाई को जिला मुख्यालयों पर प्रतिरोध मार्च: महागठबंधन

अनुपूरक न्यूज एजेंसी, पटना । बुधवार को राज्य में बढ़ते अपराध की घटनाओं को लेकर ...