Breaking News

21 जून को लगने वाले सूर्यग्रहण का वैज्ञानिकों को हैं बेसब्री से इंतजार

अशाेेेक यादव, लखनऊ। दुनिया भर के वैज्ञानिकों को 21 जून को लगने जा रही सूर्यग्रहण का बेसब्री से इंतजार है। तकरीबन 6 घंटे तक लगने वाले इस ग्रहण को लेकर कई अध्ययन भी इस दौरान किये जा सकेंगे।

यह सूर्यग्रहण भारत में सुबह 10 बजे से शुरु होकर दोपहर में 3 बजकर 5 मिनट तक लगेगा। जबकि अफ्रीका में इसे सुबह 9 बजकर 15 मिनट से देखा जा सकता है। वहीं वैज्ञानिकों  ने दावा किया है कि 12 बजक 10 मिनट पर रिंग ऑफ फायर देखे जा सकते है।

हालांकि यह सूर्यग्रहण भी अफ्रीका के यूथोपिया से ही शुरु हो रहा है। जहां 100 फीसदी सूर्यग्रहण को देखना संभव होगा। फिर यह पाकिस्तान में दिखेगा।

उसके बाद भारत के राजस्थान में प्रवेश करेगा। बता दें कि ग्रहण के समय सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीध में दिखता है। कई जगह चुंबकीय तरंगें पैदा होती है। तो समुद्र में ज्वार भाटा भी देखने को मिलता है।

वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि इस दौरान लोगों को बैचेनी और सुस्ती भी महसूस हो सकती है। वहीं माना जा रहा है कि लंबे समय तक सूर्यग्रहण लगने से आयन मंडल का अध्ययन किया जा सकेगा। वहीं वातावरण और जानवरों पर पड़ने वाले असर को भी अध्ययन करने में मदद मिलेगी। 

Loading...

Check Also

समुद्र में मिली इंसानी होंठ और दांत वाली मछली, सोशल मीडिया पर हुई वायरल

दुनियाभर में कई तरह की अजीबोगरीब चीजें पाई जाती हैं। ये चीजें इंसानों के सामने ...