Breaking News

शिमला गैंगरेप केस: मौका-ए-वारदात पर क्राइम सीन रीक्रिएट करेगी CBI

हिमाचल प्रदेश के शिमला के ठियोग की गुड़िया के साथ हुए गैंगरेप और मर्डर केस में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है. इसके लिए दो टीम बनाई गई हैं. इसके लिए सीबीआई की एक टीम सोमवार शाम कोटखाई पहुंच गई. मंगलवार से वारदात वाली जगहों पर जाकर टीम छानबीन शुरू करेगी. पांचों आरोपियों को सीबीआई विशेष अदालत से रिमांड पर लेगी.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई आरोपियों को मौका-ए-वारदात पर लेकर जाएगी. क्राइम सीन रिक्रिएट होगा. इसके बाद पांचों से पूछताछ कर सच्चाई का पता लगाया जाएगा. पुलिस को आरोपियों ने बताया था कि उन्होंने इस वारदात को जंगल में अंजाम दिया था, लेकिन क्षेत्र के लोग इससे सहमत नहीं है. छात्रा के साथ रेप के बाद हत्या कहां हुई थी?

सीबीआई की टीम इसका पता लगाएगी. परिजनों और रिश्तेदारों के भी बयान लिए जाएंगे. दूसरी तरफ गुड़िया न्याय मंच ने शिमला में रैली निकाली और सचिवालय के बाहर ढाई घंटे विरोध-प्रदर्शन किया. इस पूरे प्रकरण में हिमाचल पुलिस कठघरे में है. इस मामले की जांच के लिए बनी पुलिस की स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम भी शक के घेरे में है.

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस में भी गैंगरेप और और मर्डर केस को लेकर बगावत शुरू हो गई है. 6 कांग्रेस विधायकों ने हाईकमान को चिट्ठी भेजी है. उन्होंने सीएम वीरभद्र सिंह को कुर्सी से हटाने की मांग की है. इधर, लोगों का आक्रोश अभी भी थमने का नाम नहीं ले रहा है. गुड़िया के लिए इंसाफ के लिए लोग लगातार पुलिस-प्रशासन पर दबाव बनाए हुए हैं.

लिफ्ट के बहाने कर लिया अगवा

बीते 4 जुलाई को आरोपी राजेंद्र उर्फ राजू अपने दोस्त आशीष और सुभाष के साथ कहीं जा रहा था. उसने 10वीं में पढ़ने वाली गुड़िया को देखा और गाड़ी रोककर उसे घर तक लिफ्ट देने की बात कही. गुड़िया इलाके में नई आई थी. राजू को जानती थी. वह अक्सर स्कूली बच्चों को ले जाता था, जिससे शक नहीं हुआ. लिहाजा वह उसके साथ गाड़ी में बैठ गई.

शराब के नशे में की हैवानियत

पुलिस के मुताबिक, राजू और उसके दोस्त शराब के नशे में धुत थे. उन्होंने बीच जंगल में सामान उतारने का बहाना बनाते हुए गाड़ी रोक दी. मासूम के साथ गैंगरेप किया. अपने तीन साथियों को भी वहां बुला लिया और फिर गुड़िया की बेरहमी से हत्या कर उसकी लाश को जंगल में फेंक दिया. गैंगरेप के दौरान दरिंदों ने गुड़िया के साथ हैवानियत की इंतेहा कर दी.

हजारों लोगों ने किया प्रदर्शन

बताते चलें कि गुड़िया को इंसाफ दिलाने के लिए पिछले सप्ताह गुम्मा कस्बे में 24 पंचायतों के चार हजार लोगों ने प्रदर्शन किया था. गुस्साए लोगों ने ठियोग-हाटकोटी नेशनल हाईवे पर सात घंटे तक जाम लगा दिया था. लोग इतने गुस्से में थे कि एक गाड़ी को तोड़ दिया. मौके पर पहुंचे एसडीएम टशी संडूप को कमरे में बंद कर दिया था.

Loading...

Check Also

सीएमएस अलीगंज कैम्पस द्वारा ‘वार्षिक अभिभावक दिवस’ समारोह भव्य आयोजन

नीरजा चौहान, लखनऊ : सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) द्वारा ‘एनुअल पैरेन्ट्स डे’ समारोह ...