Breaking News

शादी पर दत्तक बेटे को तिलक लगाकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिया आशीर्वाद, जानिए क्या करती है होने वाली बहू

अशाेक यादव, लखनऊ। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह गोद लिए बेटे बृजेन्द्र की शादी में आशीर्वाद देने शनिवार को गाजीपुर पहुंचे। उन्होंने बिजेंद्र कुमार को तिलक लगाकर आशीर्वाद दिया। बृजेन्द्र को राजनाथ ने उस समय गोद लिया था जब वह यूपी के सीएम थे। उन्होंने साल 2000-2001 के दौरान सैदपुर नगर के वार्ड 11 मदारीपुर की अनुसूचित जाति की सुशीला देवी के प्रतिभाशाली बेटे बृजेंद्र कुमार का बेहतर भविष्य बनाने के इरादे से गोद लिया था।

आजमगढ़ के वीरपुर खिलवा निवासी सुशीला देवी के सबसे बड़े पुत्र बिजेंद्र के सिर से पिता जगन्नाथ का साया बचपन में ही उठ गया था। पति के देहांत के बाद सुशीला देवी अपने तीनो पुत्रों बिजेंद्र, विपिन और मंजेश को लेकर गाजीपुर के सैदपुर अपने मायके आ गईं। पढ़ने में तेज बिजेंद्र ने कक्षा आठ में टॉप किया। उस समय राजनाथ सिंह यूपी के मुख्यमंत्री थे। उन्होंने फोन करके बिजेंद्र के पारिवारिक स्थिति के बारे में पता किया। इसके बाद राजनाथ सिंह ने बिजेंद्र को गोद लिया।

मृदुभाषी व सौम्य स्वभाव के धनी डा. बृजेंद्र को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान वर्ष 2002 में गोद लिया था, लेकिन इस बात का पता बहुत कम लोगों को ही था। आसपास सहित अधिकतर लोग इस रिश्ते से अंजान थे। 27 फरवरी को आयोजित उसकी शादी में रक्षामंत्री के आने का कार्यक्रम के बाद उनका संबंध जगजाहिर हुआ। सबकी तरह डा. बृजेंद्र की होने वाली दुल्हन प्रीतिका व और उनके घरवालों को भी इस संबंध का पता चला।

बकौल प्रेमचंद डा बृजेंद्र ने कभी जाहिर नहीं होने से दिया कि रक्षामंत्री से उनका संबंध है। बीते जून माह में हम लोगों ने बृजेंद्र को देखा और शादी तय की। छह नवंबर को सगाई हुई और शादी की तिथि पड़ गई। इसके बाद भी करीब तीन माह बीत गए, लेकिन बृजेंद्र ने कभी इस बात का अहसास नहीं होने दिया कि वह रक्षा मंत्री द्वारा गोद लिए हुए हैं। उन्होंने कहा कि शादी की तैयारियां अंतिम चरण में चल रही हैं। कल बारात के स्वागत को लेकर मेरे सहित परिवार और गांव के लोग उत्साहित हैं। प्रीतिका ने अंग्रेजी से एमए एवं बीएड कोलकाता यूनिवर्सिटी से की है। अब वह सिविल की तैयारी में जुटी हैं।

रक्षामंत्री द्वारा गोद लिए गए डा बृजेंद्र की दुल्हन की ङ्क्षजदगानी भी कहीं न कहीं रक्षा मंत्रालय से जुड़ी हुई है। बृजेंद्र की दुल्हन क्षेत्र के अनौनी गांव निवासी प्रेमचंद की पुत्री है। प्रेमचंद रक्षा मंत्रालय के अधीन वेस्ट बंगाल के इच्छापुर में चलने वाली राइफल फैक्ट्री में ग्रुप बी में कार्यरत हैं। खास यह कि जब उन्होंने अपनी बेटी की शादी तय की थी तो रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से संबंध के बारे में कुछ भी पता नहीं था। अब उन्हें पता चला कि उनका होने वाला दामाद रक्षा मंत्री का दत्तक पुत्र है तो उन्होंने तैयारियों को और गति प्रदान कर दी है।

Loading...

Check Also

रेमडेसिविर जैसी दवाओं की कालाबाजारी पर NSA लगेगा, अस्‍पताल रोज बताएंगे कितने बेड हैं खाली

अशाेक यादव, लखनऊ। कोरोना के बढ़ते मामलों और बदइंतजामी के आरोपों के बीच योगी सरकार ने ...