Breaking News

राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इन दिनों विपक्ष की उड़ा रखी है नींद

लखनऊ। बिहार में महागठबंधन को तोड़ने वाले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इन दिनों विपक्ष की नींद उड़ा रखी है। शाह इन दिनों उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं। यूपी में दलित वोट में सेंध लगाने के बाद अब शाह की नजर यूपी के यादव वर्ग पर है।

दलितों के एक वर्ग और ओबीसी के एक बड़े हिस्से को अपनी ओर खींचने में कामयाब रही बीजेपी की नजर अब बीएसपी को वोट बैंक माने जाने वाले जाटवों और समाजवादी पार्टी का वोट बैंक माने जाने वाले यादवों पर है। शनिवार को पार्टी की बैठक में शाह ने कार्यकर्ताओं से खास तौर पर ‘मिशन यादव’ पर जुटने को कह दिया है।

बीजेपी पिछड़ी जातियों में गैर यादव वोटों में पहले ही काफी सेंध लगा चुकी है। दलितों में भी जाटवों को छोड़कर बाकी उपजातियों में पार्टी निणार्यक बढ़त की ओर है। बैठक में शाह ने कहा कि यादव और जाटव दोनों ही संगठित रूप से जिनके साथ रहे हैं, उनको मजबूत करने का काम किया है। इनके वोट बैंक से पली-बढ़ीं एसपी और बीएसपी पतन के आखिरी दौर में हैं। इनके कोर वोट बैंक को भी यह लग रहा है कि जिनके साथ हम खड़े रहे, उन्होंने हमारा विकास करने की बजाय राजनीतिक इस्तेमाल ही किया है।

 शाह ने कहा, ‘हमारे लिए एक अच्छा मौका है कि हम उनके बीच में बीजेपी की पैठ बढ़ा सकें, इसलिए अभियानों में यादवों को एसपी का वोट बैंक मानकर किनारे करने की जरूरत नहीं है, बल्कि पार्टी को उन पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है।’ रणनीतिक तौर पर सरकार और संगठन में भागीदारी के जरिए उनके साथ खड़ा होने का संदेश भी पार्टी के जरिए दिया जाएगा। समाजवादी कुनबे में मचे घमासान को देखते हुए शाह इसपर तुरंत काम शुरू करने के पक्ष में हैं।
Loading...

Check Also

कौन बनेगा नेपाल का प्रधानमंत्री ? केपी ओली, शेर बहादुर देउबा, पुष्प कमल दहल, गगन थापा, रामचंद्र पौडयाल या प्रकाश मान सिंह ? जोड़तोड़ जारी

संसद, काठमांडू काठमांडू : नेपाल में संसदीय चुनाव तो हो गये लेकिन प्रधानमंत्री कौन बनेगा ...