Breaking News

बीआरडी में हो रही बच्चों की मौत ,योगी का नाकारापन ;कांग्रेस

लखनऊ गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कालेज में 42 बच्चों की मौत की सूचना फिर से आयी है और पूरे अगस्त महीने में 200 मासूमों की जान इस अस्पताल के द्वारा ली गयी है। इस मस्तिष्क ज्वर के बारे में पहले से जानकारी रखते हुए और प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी का यह कहना कि वह लगातार इसके लिए लड़ते रहे हैं आज सत्ता में होकर भी इन मासूमों की जान बचाने में नाकाम रहे। इससे बड़ी चिन्ता और निन्दा का विषय कुछ नहीं हो सकता।

 


प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अरूण प्रकाश सिंह ने जारी बयान में कहा कि कांग्रेस पार्टी मानती है कि मुख्यमंत्री और मंत्री लगातार गलतबयानी करके जनता को गुमराह करते हैं। नैतिकता की दुहाई देने वाली पार्टी के प्रतिनिधि के रूप में तनिक भी नैतिकता बची है तो स्वास्थ्य मंत्री को तत्काल बर्खास्त करना चाहिए।
प्रवक्ता ने कहा कि यदि योगी जापानी इंसेफेलाइटिस(मस्तिष्क ज्वर) से हुई मौतों से चिन्तित होते तो निश्चत रूप से उन्हें अब तक जापान के डाक्टरों की एक स्पेशलिस्ट टीम बुलाकर बीआरडी मेडिकल कालेज में उनकी सेवाएं लेनी चाहिए थी और बीआरडी मेडिकल कालेज के बाल रोग विभाग में कार्यरत चिकित्सकों को प्रशिक्षण कराना चाहिए था जिससे जापान के डाक्टरों के अनुभव का लाभ हमारे चिकित्सक उठाते और इस बीमारी का सही रूप से इलाज संभव हो पाता।
कांग्रेस पार्टी को पानी पी-पीकर अनाप-शनाप कहने वाले मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी कांग्रेस की महान परम्परा से शायद परिचित नहीं हैं कि एक रेल दुर्घटना होने पर तत्कालीन रेल मंत्री ने पद त्याग दिया था। उन्होने कहाकि आज जौनपुर में फिर रेल दुर्घटना हुई है। इस माह में कई ट्रेन दुर्घटना हुई है। न तो रेल मंत्री सुरेश प्रभू के कान में जूं रेगती है और न ही भारतीय जनता पार्टी के। यह देश के इतिहास में रेलवे के कुप्रबन्धन का सबसे खराब समय कहा जायेगा।
श्री सिंह ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री योगी में नैतिकता नाम की चीज बची हो क्योंकि वह अपने आपको संत कहते हैं तो अपने स्वास्थ्य मंत्री को बर्खास्त करें।

Loading...

Check Also

एसीएस, आबकारी द्वारा अनाज आधारित 110 KLPD क्षमता की डालमिया भारत ग्रेन आसवनी जवाहरपुर, सीतापुर का किया गया उद्घाटन

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ / सीतापुर : अपर मुख्य सचिव आबकारी, चीनी उद्योग एवं ...