Breaking News

पाकिस्तान ही नहीं बल्कि इन देश से भी होती है टेरर फंडिंग

जब से एनआईए ने कश्मीर में अलगाववादियों की फंडिंग के खिलाफ कार्रवाई की है तब से रोज नित नए खुलासे हो रहे है हैं. अब NIA को अलगाववादी नेता शाहिद उल इस्लाम से हुई पूछताछ से पता चला है कि अलगाववादी नेताओं को सिर्फ पाकिस्तान से ही नहीं, बल्कि दुबई और लंदन से भी फंड मिलता है. ऐसे में टेरर फंडिंग मामले की जांच में कश्मीर के कई अन्य अलगाववादी नेता भी घिर सकते हैं.

मिली जानकारी के अनुसार एनआईए ने अलगाववादी नेता शाहिद उल इस्लाम को गत माह गिरफ्तार किया था .उसके पास से कश्मीर के 150 आतंकियों की सूची भी मिली है. शाहिद, मीरवाइज उमर फारूक का करीबी है. शाहिद ने पूछताछ में बताया कि अलगाववादी नेताओं को सिर्फ पाकिस्तान से ही नहीं, बल्कि दुबई और लंदन से भी फंड मिलता है. एनआईए के एक अधिकारी के अनुसार, अलगाववादियों और आतंकियों में इतनी दूरी नहीं है जितनी बताई जाती है.

बता दें कि शाहिद ने 1990 में पीओके के आतंकी कैंपों में ट्रेनिंग ली है.बाद में उसने पुलिस के सामने समर्पण कर दिया था. जेल से छूटने के बाद वह हुर्रियत से जुड़ गया. कहा जा रहा है कि शाहिद के अभी भी आतंकियों से संपर्क हैं. उधर,दिल्ली की एक अदालत ने टेरर फंडिंग के एक मामले में 24 जुलाई को गिरफ्तार किये गए हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद सहित चार अन्य लोगों की एनआईए हिरासत की अवधि शुक्रवार को दस दिन के लिए और बढ़ा दी है.

Loading...

Check Also

कौन बनेगा नेपाल का प्रधानमंत्री ? केपी ओली, शेर बहादुर देउबा, पुष्प कमल दहल, गगन थापा, रामचंद्र पौडयाल या प्रकाश मान सिंह ? जोड़तोड़ जारी

संसद, काठमांडू काठमांडू : नेपाल में संसदीय चुनाव तो हो गये लेकिन प्रधानमंत्री कौन बनेगा ...