Breaking News

पंचायत चुनावों का बिगुल बजा, अब्जर्वर नियुक्त किए जाने तय

अशाेक यादव, लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनावों का बिगुल बच चुका है, हालांकि चुनाव की तिथि अभी नहीं घोषित की गयी है। राज्य निर्वाचन आयोग ने मंगलवार को चुनाव से पूर्व होनेे वाली प्रक्रिया के लिए विस्तृत कार्यक्रम निर्देश जारी कर दिए हैं।

आयोग से मिले निर्देश के अनुसार 1 अक्टूबर से मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्य शुरू होगा। 12 नवंबर तक बीएलओ घर-घर जाकर मतदाता सूची अपडेट करेंगे। 1 अक्टूबर से 5 नवंबर तक मतदाता सूची में नाम जुड़वाने या कटवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन भी स्वीकार किए जाएंगे।

ऑन लाइन प्राप्त आवेदनों का सत्यापन 6 नवंबर से 12 नवंबर के बीच किया जाएगा। 29 दिसम्बर को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन होगा। अधिसूचना जारी होने के साथ ही 15 सितंबर से प्रदेश के जनपदों में बीएलओ और पर्यवेक्षकों को काम बांटने और बुकलेट-प्रपत्र वितरित करने का काम भी शुरू हो गया है। आयोग ने फिलहाल चुनाव की तिथियां नहीं घोषित की हैं।

राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार द्वारा जारी कार्यक्रम से तय हो गया है कि उत्तर प्रदेश पंचायत चुनाव इस बार तय वक्त पर नहीं हो पाएंगे। पंचायत अधिकारियों का कार्यकाल खत्म होने के बाद उनकी कुर्सी पर आब्जर्वर बैठाए जाएंगे। चुनाव संपन्न न होने तक आब्जर्वर ही गांव की सरकार चलाएंगे।

बता दें कि 25 दिसंबर को वर्तमाल पंचायतों का कार्यकाल पूरा हो रहा है। राज्य निर्वाचन आयोग को उससे पहले ही चुनाव करा लेने थे। लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते इस बार चुनाव प्रक्रिया समय पर नहीं शुरू हो सकी और अब चुनाव की तिथि बढ़नी तय है।

Loading...

Check Also

प्रयागराज मंडल में स्वच्छ रेल-स्वच्छ भारत निबंध प्रतियोगिता

  राहुल यादव, लखनऊ। मंगलवार को स्वच्छता पखवाड़े के 14वें दिन प्रयागराज मंडल पर स्वच्छ ...