Breaking News

तेजस्वी पर इस्तीफे का दवाब, कांग्रेस विधायकों की राहुल से मांग….

पटना:  बिहार में पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के इस्तीफा देने या उन्हें नीतीश सरकार से हटाए जाने को लेकर राजनीतिक असमंजस की हालत अब भी बनी हुई है. लालू की पार्टी के नेता लगातार कह रहे हैं कि तेजस्वी के इस्तीफे का सवाल ही नहीं है. तेज प्रताप के पेट्रोल पंप को गलत आवंटन के चलते बंद किए जाने की वजह से भी लालू परिवार का संकट और बढ़ गया है. अब कांग्रेस विधायक भी राहुल गांधी को चिट्ठी लिखकर पार्टी का रुख साफ करने की मांग कर रहे हैं.

आरजेडी के नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा है, तेजस्वी यादव का इस्तीफा नहीं होगा. ये विधायक दल का फैसला है.’’आरजेडी ये भी कह रही है कि तेजस्वी यादव की तरफ से सारे तथ्य पब्लिक डोमेन में पहले ही रखे जा चुके हैं. उन्होंने कहा, ‘’पब्लिक डोमेन में तथ्य रखे जा चुका हैं. इनकम टैक्स, सीबीआई और सीएम नीतीश के के पास भी तथ्य हैं.

इस मामले में आरजेडी रैली के मंच से रखेगी अपनी बात

आरजेडी का ये भी कहना है कि नीतीश से मुलाकात के बाद तेजस्वी के सफाई देने का मुद्दा खत्म हो चुका है और अब इस मुद्दे पर जनता के सामने कोई भी बात लालू यादव की 27 अगस्त को होने वाली बड़ी रैली के मंच से रखी जाएगी. लेकिन नीतीश की पार्टी इतना वक्त देने को तैयार नहीं है.

कांग्रेस विधायकों ने राहुल गांधी को लिखी चिट्ठी

बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार तो तेजस्वी की सफाई या इस्तीफे की बात पर अडिग हैं, लेकिन वो कांग्रेस से हरी झंडी न मिलने की वजह से कार्रवाई नहीं कर पा रहे. इस बीच कांग्रेस में भी इस मुद्दे पर बेचैनी साफ दिखने लगी है. पार्टी नेताओं ने राहुल गांधी को चिट्ठी लिखकर इस मुद्दे पर पार्टी का रुख साफ करने की मांग की है.

चिट्ठी में विधायकों ने लालू पर साधा निशाना

कांग्रेस विधायक डॉ शकील अहमद खान ने राहुल गांधी को चिठ्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाकर रुख साफ करने के लिए गुहार लगाई है. शकील अहमद ने इस चिट्ठी में इशारों में लालू पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा है, ‘’दूसरों की गलती गिनाने से अपनी गलती छुपा नही सकते.’’

लालू फिर बोले- अटूट है गठबंधन

उधर, लालू यादव इस राजनीतिक संकट के बीच भी बार-बार यही कह रहे हैं कि गठबंधन अटूट है. वो महागठबंधन में शामिल सभी पार्टियों को बयानबाज़ी से बचने की सलाह भी दे रहे हैं. लालू ने कहा, ‘’महागठबंधन अटूट है. इसके नेता बयानबाजी से बचें. कांग्रेस, जेडीयू और आरजेडी सभी को सलाह है. मेरी पार्टी के लोग रैली की तैयारी में जुटें.’’ लेकिन लालू की बयानबाजी से बचने की सलाह के बावजूद पहले जेडीयू और अब कांग्रेस के नेता भी जिस अंदाज़ में अपनी बात खुलकर कह रहे हैं, उससे साफ है कि तेजस्वी के इस्तीफे के लिए दवाब लगातार बढ़ता जा रहा है.

Loading...

Check Also

सीएमएस अलीगंज कैम्पस द्वारा ‘वार्षिक अभिभावक दिवस’ समारोह भव्य आयोजन

नीरजा चौहान, लखनऊ : सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) द्वारा ‘एनुअल पैरेन्ट्स डे’ समारोह ...