Breaking News

गोरखपुर में बच्चों की मौत पर हाईकोर्ट को आया रहम, मांगा जवाब

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछले दिनों बड़ी संख्या में हुई बच्चों की मौत के मामले में उत्तर प्रदेश सरकार और चिकित्सा शिक्षा विभाग के महानिदेशक को छह सप्ताह के अंदर विस्तृत जवाब दाखिल करने के आदेश दिये। अदालत ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 9 अक्तूबर की तारीख मुकर्रर की है। जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस दया शंकर तिवारी की पीठ ने यह आदेश सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर की याचिका पर दिया। महाधिवक्ता राघवेन्द्र प्रताप सिंह ने सरकार का पक्ष रखते हुए कोर्ट में इस याचिका का विरोध किया और कहा कि राज्य सरकार ने गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत के मामले में हर सम्भव कदम उठाये हैं और वह मुख्य सचिव द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट के आधार पर हर मुमकिन कार्रवाई करेगी। याची नूतन ने दलील दी कि राज्य सरकार द्वारा इस मामले में अब तक की गयी कार्रवाई से यही संदेश मिला है कि वह तथ्यों को छुपाना और दोषी लोगों को बचाना चाहती है। उल्लेखनीय है कि गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में पिछली 10-11 अगस्त को संदिग्ध हालात में 30 से अधिक बच्चों की मौत हो गयी थी। ऐसे आरोप लगे थे कि वह मौतें ऑक्सीजन की कमी के कारण हुईं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को गोरखपुर में होंगे। भाजपा के क्षेत्रीय प्रवक्ता डॉक्टर सतेन्द्र सिन्हा ने आज यहां बताया कि मुख्यमंत्री कल अपने एक दिवसीय गोरखपुर दौरे के दौरान ‘स्वच्छ उत्तर प्रदेश-स्वस्थ उत्तर प्रदेश अभियान’ का शुभारंभ करेंगे। उन्होंने बताया कि यह अभियान 20 से 25 अगस्त तक हर जिले में चलाया जाएगा। मुख्यमंत्री इसकी शुरुआत अंधियारी बाग मोहल्ले से करेंगें। योगी गोरखपुर के बाढ़ और इंसेफेलाइटिस प्रभावित इलाकों में भी भ्रमण करेंगें। इस बीच, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शनिवार को गोरखपुर जाएंगे। कांग्रेस के जिलाध्यक्ष डाक्टर सैयद जमाल ने बताया कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में हुई बच्चों की मौत के प्रकरण को लेकर ही उनका यह दौरा हो रहा है।

Loading...

Check Also

बांग्लादेश ने दूसरे एकदिवसीय मुकाबले में भारत को 5 रन से हराया, तीन मैचों की श्रृंखला में भारत 2-0 से पीछे

ढाका : बांग्लादेश ने दूसरे एकदिवसीय मुकाबले में भारत को हरा दिया है। इसके साथ ...