Breaking News

कश्मीरियत की होगी जीत, हारेगा आतंक, महबूबा मुफ्ती

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने गुरुवार सुबह कश्मीर के शहीदी दिवस पर शहीदों की श्रद्धांजलि अर्पित की. इस मौके पर महबूबा मुफ्ती ने कहा कि 13 जुलाई, 1931 के दिन शहीद हुए लोगों की वजह से ही आज के कश्मीर की कश्मीरियत जिंदा है, हम शहीदों के सपने वाला कश्मीर बनाने की पूरी कोशिश करेंगे. 13 जुलाई, 1931 को 22 लोग शहीद हुए थे.

महबूबा मुफ्ती ने इस दौरान अमरनाथ यात्रा के दौरान हुए हमले की भी कड़ी निंदा की. उन्होंने कहा कि आज भी कश्मीरियत जिंदा है, हम लोग आतंक से डरने वाले नहीं है.

इससे पहले भी बुधवार को महबूबा मुफ्ती ने हमले की निंदा की थी. अमरनाथ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं से भरी हुई बस पर हुए आतंकी हमले में 7 लोगों की मौत हुई. सोमवार रात को आतंकियों के द्वारा गोलीबारी में करीब 19 लोग घायल हुए थे. महबूबा मुफ्ती ने कहा था कि हर साल लाखों श्रद्धालु अमरनाथ की यात्रा के लिए आते हैं, कश्मीरी लोग अपने-अपने तरीके से सभी की सेवा भी करते हैं.

उन्होंने कहा कि इस मुश्किल घड़ी में सभी देशवासियों ने भाईचारे का संदेश दिया है, कोई कितनी भी कोशिश करले लेकिन कभी भी कश्मीरियत खत्म नहीं होगी. मुफ्ती ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की आवाम ने भाईचारे का सबूत दिया है. कश्मीरी में घोड़े वाला, मजदूर, खाना खिलाने वाला हर कोई अमरनाथ यात्रा पर आए हुए श्रद्धालुओं की सेवा करते हैं.
Loading...

Check Also

सीएमएस अलीगंज कैम्पस द्वारा ‘वार्षिक अभिभावक दिवस’ समारोह भव्य आयोजन

नीरजा चौहान, लखनऊ : सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अलीगंज (प्रथम कैम्पस) द्वारा ‘एनुअल पैरेन्ट्स डे’ समारोह ...