Breaking News

एसबीआई ने लॉन्च की ‘योनो शाखा’

 अशाेेेक यादव, लखनऊ। देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने अपने 65वें स्थापना दिवस की पूर्व संध्या पर अत्याधुनिक योनो शाखा की शुरूआत करने की घोषणा की। एसबीआई का इंटीग्रेटेड डिजिटल और लाइफस्टाइल प्लेटफार्म योनो बैंकिंग इंडस्ट्री में ग्राहकों को मानव संवाद और डिजिटल इंटीग्रेशन के बेहतरीन मिश्रण के साथ एक बेहतर अनुभव देने वाला है।

ये योनो ब्रांच तीन शहरों नवी मुम्बई, इंदौर और गुरूग्राम में शुरू की गई हैं जो इस योजना के पायलट प्रोजेक्ट का हिस्सा है। इनके जरिए ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाया जाएगा। योनो ब्रांच अपने ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने पर ध्यान केन्द्रित करेंगी। एसबीआई ने अपने परम्परागत ब्रांच डिजाइन को बदलते हुए ‘डिजिटल फर्स्ट‘ ऑपरेटिंग माॅडल पर काम करने का फैसला किया है।

इसके सेल्फ सर्विस जोन में ग्राहक अपने चैक स्मार्ट चैक डिपोजिट कियोस्क में जमा करा सकेंगे, योनो कैश के जरिए नकदी निकलवा सकेंगेे। सप्ताह में सातों दिन कभी भी कैश जमा करा सकेंगे और पासबुक प्रिंट करवा सकेंगे। इसके लिए उन्हें शाखा के कर्मचारियों पर निर्भर नहीं रहना होगा।

सेल्फ असिस्ट कियोस्क टच स्क्रीन कंसोल्स वाले हैं। इनसे ग्राहक योनोे के जरिए कई तरह की सेवाएं प्राप्त कर सकेंगे, जैसे एफडी बुक करना या नया खाता खोलना, यह सब काम वे खुद कर सकेंगे। डिजिटल सेवाएं प्राप्त करने के लिए समर्पित योनो होस्ट उनकी व्यक्तिगत सहायता करेंगे ताकि उनका बैंकिंग अनुभव आरामदायक रहे।

बैंक के अध्यक्ष रजनीश कुमार ने कहा, ‘‘हमें खुशी है कि योनो एसबीआई अब ज्यादा मजबूत और आक्रामक माॅडल के साथ सामने आ रहा है और बैंक के स्थापना दिवस के मौके पर हम इसे लाॅंन्च करते हुए बहुत खुशी का अनुभव कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि योनो ब्रांच से ग्राहक डिजिटल बैंकिंग अपनाने के लिए सक्षम बन सकेंगे और सभी बैंकिंग सेवाएं आसानी से प्राप्त कर सकेंगे।

विशेष तौर पर डिजाइन की गई योनो ब्रांच में कई तरह की बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध रहेंगी और हमें उम्मीद है कि यहां से ग्राहक एक अनूठा और यादगार बैंकिंग अनुभव ले कर जाएंगे। एसबीआई में हम लगातार ग्राहकों को उत्पादों तथा सेवाओं में अपने नवाचारों से नए अनुभव देते रहे हैं।”

Loading...

Check Also

गुजरात: बड़ी संख्या में सूरत छोड़कर जा रहे हीरा उद्योग में काम करने वाले मजदूर

कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के मद्देनजर सूरत में हीरा इकाइयों के बंद हो जाने से इनमें ...