Breaking News

कड़ी सुरक्षा के बीच दो पालियों में कल होगी टीईटी की परीक्षा, 21.62 लाख परीक्षार्थी होंगे शामिल

लखनऊ। यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा टीईटी का आयोजन आज रविवार को दो पालियों में किया जाएगा। इस बार प्रदेश भर में 21.62 लाख से अधिक अभ्यार्थियों ने आवेदन किया है। लखनऊ में 99 तो प्रदेश भर में 4,500 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। पिछली बार की अपेक्षा यह संख्या अधिक है, ऐसे में कक्षनिरीक्षकों की संख्या बढ़ायी गयी है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय ने बताया कि परीक्षा के दौरान साल्वर गैंग​ पर निगरानी के लिए एसटीएफ की टीम भी लगायी गयी हैं।

साथ ही केन्द्रों के भीतर भी कक्षनिरीक्षकों की पैनी नजर रहेगी। किसी भी केन्द्र पर कोई बवाल न होने पाये इसके लिए सुरक्षा व्यवस्था दुरूस्त रहेगी। अभ्यर्थियों को परीक्षा प्रवेश पत्र के साथ फोटोयुक्त पहचान पत्र की मूल प्रति लाना होगा। इसके अलावा उन्हें प्रशिक्षण योग्यता का मूल प्रमाण पत्र अथवा किसी भी सेमेस्टर के निर्गत अंक पत्र की मूल प्रति अथवा संबंधित प्रशिक्षण संस्था के प्राचार्य या सक्षम अधिकारी द्वारा इंटरनेट से प्राप्त अंक प्रत्र की प्रमाणित प्रति जरूरी है।

राजधानी टीईटी के लिए ​जिला प्रशासन की ओर से भी 33 सेक्टर मजिस्ट्रेटों की तैनाती की गयी है। इसके साथ ही 24 सचल दल निगरानी करेंगे। सभी सचल दल आनलाइन सूचनाएं भी दर्ज करायेंगे। इस दौरान किसी भी परीक्षा केन्द्र का अगर गेट बंद मिलता है तो केन्द्र व्यवस्थापक जिम्मेदार होंगे।

उपस्थिति पंजिका केंद्रों पर भेज दी गयी है। अधिकारियों ने बताया कि अभ्यर्थियों के स्कैन किए हुए फोटो युक्त अटेडेंस शीट केंद्र व्यवस्थापको को पहले ही दी जा चुकी है। इसी शीट से परीक्षा देने आये अभ्यर्थी का ​मिलान किया जायेगा। वहींओएमआर शीट के बंडल परीक्षा नियामक प्राधिकारी के कार्यालय में जमा कराने की अंतिम तिथि 30 नवंबर होगी।

पहली बार टीईटी की भी निगरानी ऑनलाइन सर्विलांस सेल से की जाएगी। इससे पहले उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की प्रारंभिक अर्हता परीक्षा में भी सर्विलांस सेल का प्रयोग हुआ था। परीक्षा की निगरानी के लिए एसटीएफ के साथ—साथ एलआईयू को भी लगाया गया है। परीक्षा केंद्र पर व्यवस्थापक, नामित पर्यवेक्षक एवं स्टैटिक मजिस्ट्रेट को भी कैमरा युक्त मोबाइल या स्मार्टफोन ले जाने की अनुमति नहीं है। परीक्षा शुरू होने के एक घंटे पहले प्रश्नपुस्तिकाओं के पैकेट खोले जाएंगे। पैकेट खोलने और परीक्षा के बाद उसकी पैकिंग/सीलिंग की वीडियोग्राफी कराकर उसकी सीडी भेजी जाएगी।

प्रत्येक 30 अभ्यर्थियों पर दो कक्ष निरीक्षक होंगे, लेकिन किसी भी कक्ष में इनकी संख्या दो से कम नहीं होगी, भले ही अभ्यर्थी 30 से कम हों। वहीं ओएमआर शीट पर अशुद्ध लिखने के बाद सफेदा या व्हाइटनर का प्रयोग नहीं करना होगा। ऐसा होने पर ओएमआर शीट निरस्त कर दी जाएगी। यदि कोई अभ्यर्थी सादी ओएमआर शीट जमा करता है तो कक्ष निरीक्षक उसे अभ्यर्थी से क्रास करा देंगे।

2021 टीईटी का ये है विवरण

  • 21.62 लाख कुल आवेदन संख्या
  • 13.52 लाख उच्च प्राथमिक के लिए
  • 8,10,201 प्राथमिक के लिए
  • परीक्षा तिथि -28 नवंबर
  • आंसर-की जारी होने की तिथि – 02 दिसंबर
  • आंसर-की पर अपत्ति की अंतिम तिथि 6 दिसंबर
  • निराकरण करने की तिथि-22 दिसंबर
  • अंतिम आंसर की जारी करने की तिथि-24 दिसंबर
  • परिणाम जारी करने की तिथि -28 दिसंबर
Loading...

Check Also

यूपी पीसीएस मुख्य परीक्षा टली, यह है नई एग्जाम डेट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने कोरोना के चलते 28 जनवरी से होने वाली ...