Breaking News

लखनऊ स्पोट्र्स कॉलेज के प्रधानाचार्य का पत्र पढ़कर हैरान : साई निदेशक

लखनऊ। गुरु गोविंद सिंह स्पोट्र्स कालेज के पास 165 एकड़ की जगह होने के बावजूद 5 फुट की जगह में पिच की मिट्टी न रख पाने की बात को लेकर स्पोट्र्स कालेज और साई सेटर के बीच दरार पड़ती नजर आ रही है। साई निदेशक राजेन्द्र सिंह की कहना है कि मैं तो स्पोट्र्स कालेज के प्रधानार्चा का पत्र पढ़कर उस समय निराश हो गया। जब पत्र में यह पढ़ कि यहां चलने वाले साई के वेटलिफ्टिंग सेंटर को हटाना होगा। जिसकी वजह क्रिकेट पिच की मिट्टी की जगह न होना बताया गया है। साई निदेशक ने कहा कि जिस मैंदान से

 


रेनू बाला चानू व सोनिया चानू जैसी अर्जुन पुरस्कार विजेता, राष्ट्रमण्डल खेलों की कांस्य पदक विजेता स्वाति सिंह, हाल ही में राष्ट्रमण्डल चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाली पूनम और कांस्य पद विजेता सरस्वती राउत व वंदना समेत दो दर्जन से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीते हैं। उन्हीं को आज पांच फुट जगह की वजह से मैंदान छोडऩे की बात कही जा रही है। वेटलिफ्टर से ज्यादा कीमती क्रिकेट पिच बनाने वाली मिट्टी हो गई है। स्पोट्र्स कॉलेज के प्रधानाचार्य ने स्पोट्र्स अथारिटी साई के निदेशक को पत्र लिखा है कि उनके यहां चल रहा वेटलिफ्टिंग सेंटर हटाया जाये, वहां पिच बनाने की मिट्टी रखनी है।
बताते चले कि खेलमंत्री चेतन चौहान अचानक स्पोट्र्स कॉलेज पहुंच गये। उन्होंने वहां सड़कों पर गोबर देखा। परिसर में गाय, भैंस और बकरियों को टहलते देखा। इस पर उन्होंने खासी नाराजगी जाहिर की। फि र वह क्रिकेट की के मैंदान की ओर पहुंचे। उन्होंने पिचों की हालत खराब देखकर कहा कि इस पर काली डलवाई जाए। मिट्टी मंगवा कर कहीं सुरक्षित जगह रखी जाये।
स्पोट्र्स कॉलेज के प्रधानाचार्य ने इसी को आधार बनाकर भारतीय खेल प्राधिकरण के वेटलिफ्टिंग सेंटर को खाली कराने की कवायद शुरू कर दी। उन्होंने वहां के कोच से भी कहा कि हॉल में रखा वेटलिफ्टिंग का सामान हटा लिया जाये। साई के निदेशक राजेंद्र सिंह को पत्र लिखा कि साई से अनुबंध खत्म हो गया है इसलिए वहां से सेंटर हटा लिया जाये। वहां मिट्टी रखवानी है। जबकि स्पोट्र्स कॉलेज में तमाम ऐसी जगह है, जहां मिट्टी रखवाई जा सकती है।
खास बात यह है कि साई ने वेटलिफ्टिंग का सेंटर शुरू किया था। स्पोट्र्स कॉलेज व साई के बीच पांच वर्षों का अनुबंध था। यह अनुबंध आपसी सहमति से जुलाई 2017 तक था। इस बीच साई सेंटर ने तकरीबन दो दर्जन अंतरराष्ट्रीय स्तर की वेटलिफ्टर तैयार की हैं। इनमें रेनू बाला व सोनिया चानू को तो अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। रेनू बाला ने दो राष्ट्रमण्डल खेल और कई राष्ट्रमण्डल चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीते। वहीं रेनू बाला व सोनिया चानू ओलंपियन हैं। साथ ही एशियाई खेल, एशियाई चैंपियनशिप व राष्ट्रमण्डल खेल व चैंपियनशिप में पदक जीत चुकी हैं। उनके अलावा स्वाति सिंह ने ग्लास्गो राष्ट्रमण्डल खेल में कांस्य पदक जीता। सृष्टि सिंह ने यूथ राष्ट्रमण्डल खेल में रजत पदक हासिल किया। पांच दिन पहले आस्ट्रेलिया में हो रही राष्ट्रमण्डल चैंपियनशिप में पूनम यादव ने रजत, वंदना व सरस्वती राउत ने कांस्य पदक जीते। इनके अलावा पूजा गुप्ता, छाया और ईनू रानी ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई पदक जीते। मगर अब साई सेटर के निदेशक स्पोट्र्स कालेज के प्रधानाचार्य का पत्र पढ़कर काफी हताश है। वहीं स्पोट्र्स कालेज के प्रधानाचार्य विजय कुमार गुप्ता का कहना है कि साई से अनुबंध जुलाई में ही खत्म हो गया है। हमारे पास मिट्टी रखने के लिए जगह नहीं है। इसकी जानकारी शासन को भी दे गई है और साई के निदेशक को भी लिखित में भेज दिया गया है।

Loading...

Check Also

लोनिवि के क्रिकेट टूर्नामेंट का सातवां लीग मैच पीडब्ल्यूडी वर्ल्ड बैंक ने 37 रनों से जीता

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ : यू0पी0 पी0डब्लू0डी0 स्पोर्ट्स क्लब द्वारा विभागीय क्रिकेट प्रतियोगिता (चतुर्थपीडब्लूडी ...