Breaking News

रेल हादसे पर केंद्र सरकार और रेलवे पर दर्ज हो गैर इरादतन हत्या का मुकदमा : शिवसेना

 

नई दिल्ली / मुंबई : मुंबई के एलफिंस्टन स्टेशन पर शुक्रवार सुबह मची भगदड़ में 22 लोगों की मौत हो गई और दो दर्जन से ज्यादा लोग घायल हैं। इस मामले को लेकर शिवसेना ने भाजपा सरकार पर तीखा हमला बोला है। शिवसेना ने रेल मंत्रालय पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कराने की मांग की है। शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि सरकार और रेल मंत्रालय के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर मुकदमा चलना चाहिए।

शिवसेना ने कहा कि उसके सांसदों ने रेल मंत्रालय को पत्र लिख ब्रिज को चौड़ा करने की मांग की थी, लेकिन तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने वैश्विक मंदी का हवाला दिया था। एलफिन्स्टन रेलवे स्टेशन फुट ओवर ब्रिज पर हुए इस हादसे के लिए ब्रिज के संकरे होने को भी जिम्मेदार ठहाराया जा रहा है।

एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए शिवसेना सांसद राहुल शेवाले ने कहा कि उन्होंने संसद में रेलवे ब्रिज का मुद्दा उठाया था। जानकारी के मुताबिक शिवसेना के दो सांसदों अरविंद सावंत और राहुल शेवाले की तरफ से 2015 और 2016 में इस बाबत रेल मंत्रालय को खत भी लिखा गया था।

बाद में केंद्र सरकार ने सफाई देते हुए कहा कि नए फुटओवर ब्रिज के लिए निर्माण के लिए साल 2016 में ही मंजूरी दे दी गई थी और इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया अभी चल रही है। तत्कालीन रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ही फुटओवर ब्रिज के निर्माण की मंजूरी दी है।

आपको बता दें कि शुक्रवार सुबह करीब 10.30 बजे मुंबई में परेल और एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन के फुटओवर ब्रिज पर भगदड़ के कारण 22 लोगों की मौत हो गई। इस घटना में 35 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। बताया जा रहा है कि बारिश के कारण ओवर ब्रिज पर फिसलन थी, रेलिंग का हिस्सा टूटने से हादसा हुआ। हादसे की जांच के आदेश दिए जा चुके हैं। महाराष्ट्र सरकार की ओर से मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख का मुआवजा देने का ऐलान किया गया है।

Loading...

Check Also

“BJP पहले डर फैलाती है, फिर इसे हिंसा में बदल देती है” : राहुल गाँधी

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, बोदरली – बुरहानपुर : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई वाली ...