Breaking News

मैं नौकरी ढूंढ रहा होता तो जेटली यहां नहीं होते,जेटली मेरा रिकॉर्ड नहीं जानते आईएएस की नौकरी छोड़कर आया : सिन्हा

 

नई दिल्ली: बीजेपी में ही इन दिनों घमासान मचा हुआ है. यशवंत सिन्हा ने लेख लिखकर और फिर मीडिया के सामने आकर देश की ख़स्ताहाल अर्थव्यवस्था के लिए जेटली को आड़े हाथों लिया. फिर जेटली ने यशवंत सिन्हा पर पलटवार किया. नाम लिए बग़ैर कहा वह 80 की उम्र में नौकरी ढूंढ रहे हैं. अब यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर जेटली के इस वार पर पलटवार किया है. सिन्हा ने कहा कि अगर मैं नौकरी मांगता तो वो आज वित्त मंत्री नहीं होते. यानी अगर मैं आवेदक होता तो शायद वह पहले नंबर पर ना होते. मुझ पर निजी हमले का आरोप लगाया जबकि खुद आडवाणी जी के मशविरों को दरकिनार कर निजी हमले कर रहे हैं.

यशवंत सिन्हा ने कहा कि अरुण जेटली मेरी पृष्ठभूमि भूल गए हैं. नौकरी मांगने वाला नौकरी छोड़ता नहीं है. मैं 12 साल की आईएएस की नौकरी छोड़ राजनीति में आया था. 80 साल की उम्र में नौकरी मांगनेवाला मज़ाक़ अच्छा था, मुझे पसंद आया. स्पीच के लिए उन्होंने काफी रिसर्च की थी.

यशवंत ने सवाल किया कि जो तथ्य मैंने दिए हैं उसका जवाब कोई क्यों नहीं दे रहा है. पनामा पेपर लीक में किसे बचाने की कोशिश हो रही है. विदेशों में काला धन को लेकर किसे बचाने की कोशिश हो रही है. दिल्ली में बैठे हवाई नेता ऐसी ही बातें करेंगे, जिसके पास निर्वाचन क्षेत्र है, जो जमीनी नेता है, वह ऐसी बातें नहीं करेगा.

इससे पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा के आरोपों पर पलटवार किया. एक किताब के विमोचन कार्यक्रम के दौरान जेटली ने कहा कि यशवंत सिन्हा वित्त मंत्री के तौर पर अपने कार्यकाल को भूल गए हैं. ख़ुद पर यशवंत सिन्हा के हमलों को लेकर जेटली ने कहा कि नीतियों की बजाय वह व्यक्तिगत टिप्पणी ज़्यादा कर रहे हैं. आगे जेटली ने यशवंत सिन्हा का नाम लिए बग़ैर कहा कि 80 साल की उम्र में नौकरी के आवेदक बने घूम रहे हैं. मेरे पास पूर्व वित्त मंत्री होने का सौभाग्य नहीं है, न ही ऐसा पूर्व वित्त मंत्री होने का सौभाग्य है जो आज स्तंभकार बन चुका है.

Loading...

Check Also

मैनपुरी लोकसभा तथा खतौली एवं रामपुर विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र के उप निर्वाचन हेतु कल सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक मतदान

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, लखनऊ : प्रदेश में 21-मैनपुरी लोकसभा तथा 15-खतौली एवं 37-रामपुर विधान ...