Breaking News

जापान के ऊपर उत्तर कोरिया की मिसाइल

उत्तर कोरिया ने फिर मिसाइल परीक्षण किया है. जापानी सरकार का कहना है कि यह मिसाइल उत्तरी जापान के ऊपर से उड़ते हुए समुद्र में जा गिरी. उत्तर कोरिया के ताज़ा परीक्षणों की श्रृंखला में अब से पहले कोई मिसाइल ज़मीन के ऊपर से होकर नहीं गुज़री. ज़ाहिर है इससे दोनों देशों के बीच तनाव बहुत बढ़ सकता है. स्थानीय समय के मुताबिक मंगलवार सुबह यह मिसाइल छोड़ी गई. जापान की तरफ़ से मिसाइल को ध्वस्त करने की कोई कोशिशें नहीं की गईं.

मिसाइल ने जापान के उत्तरी होकाइडो द्वीप से पूर्व की ओर करीब तीन हज़ार किलोमीटर की दूरी तय की. इसके बाद मिसाइल की ज़द में आने वाले जापानी इलाक़ों में सायरन बजाकर लोगों को सावधान किया गया और उन्हें बेसमेंट और मजबूत इमारतों में जाने के लिए कहा गया.
स्थानीय मीडिया में आई ख़बरों के मुताबिक, गिरने से पहले मिसाइल के तीन टुकड़े हो गए थे.
शनिवार को भी उत्तर कोरिया ने तीन छोटी दूरी की मिसाइलों का अपने पूर्वी किनारे से परीक्षण किया था.

ताज़ा घटना के बाद, जापानी सरकार ने मिसाइल की ज़द में आने वाले इलाक़े के लोगों को सावधानी बरतने को कहा है. हालांकि जापान की प्रसारण कंपनी एनएचके के मुताबिक, किसी नुकसान के संकेत नहीं हैं.
जापानी प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे ने कहा है कि सरकार लोगों का जीवन सुरक्षित रखने के लिए बहुत कुछ कर रही है. मुख्य कैबिनेट सचिव योशिहिदे सुगा ने उत्तर कोरिया के इस परीक्षण को ‘एक अभूतपूर्व, गंभीर ख़तरा’ बताया है. उन्होंने कहा है कि जापान इसके जबाव में ‘उचित क़दम’ उठाएगा.

मिसाइल के उड़ान मार्ग को देखते हुए जापान इस परीक्षण को तनाव में बढ़ोतरी के तौर पर देखेगा.
उत्तर कोरिया ने कुछ ही दिन पहले अमरीका तक जाने में सक्षण इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल के सफल परीक्षण का दावा किया था और अमरीकी द्वीप गुआम पर हमले की धमकी भी दी थी.
अमरीकी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि मंगलवार के परीक्षण से अमरीका पर कोई ख़तरा ज़ाहिर नहीं होता है और सेना और ख़ुफिया जानकारी जुटाने की कोशिश कर रही है.

Loading...

Check Also

कौन बनेगा नेपाल का प्रधानमंत्री ? केपी ओली, शेर बहादुर देउबा, पुष्प कमल दहल, गगन थापा, रामचंद्र पौडयाल या प्रकाश मान सिंह ? जोड़तोड़ जारी

संसद, काठमांडू काठमांडू : नेपाल में संसदीय चुनाव तो हो गये लेकिन प्रधानमंत्री कौन बनेगा ...