Breaking News

अखिलेश और लालू यादव की” सुरक्षा” पर मोदी की तिरछी नजर

नई दिल्ली : वीवीआई सुरक्षा लिए हुए कुछ नेताओं पर गाज गिरने वाली है। गाज का मतलब है कि इनकी सुरक्षा में कटौती की जा सकती है। देश में खास लोगों को जेड प्लस, जेड, वाई और एक्स तरह की सुरक्षा मुहैया करवाई जाती है। इन्हीं खास लोगों में कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें कड़ी सुरक्षा की आवश्यकता न होकर सिर्फ सामान्य सुरक्षा की ही आवश्यकता है इसलिए इनका सुरक्षा दायरा छोटा किया जा सकता है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ही इन लोगों को सुरक्षा दिलाता है। सूत्रों के मुताबिक एम करुणानिधि, यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और लालू प्रसाद यादव की सुरक्षा में कटौती होने की संभावना है। अखिलेश यादव और लालू प्रसाद यादव अब राज्य के सीएम भी नहीं है इसलिए इन्हें अधिक सुरक्षा देने का कोई औचित्य नजर नहीं आता।  हाल ही में एक फैसले के तहत लालू प्रसाद यादव और उनकी पत्नी राबड़ी देवी से एयरपोर्ट पर रनवे तक गाड़ी ले जाने का अधिकार छीना गया।

 

गृह मंत्रालय के प्रोटेक्शन रिव्यू ग्रुप द्वारा यह प्रस्ताव भेजा गया है, जिसे गृह मंत्री राजनाथ सिंह हरी झंडी दे सकते हैं। मौजूदा समय में 15 नेताओं को यह सुरक्षा मुहैया कराई गई है, जिन्हें एनएसजी के कमांडो सुरक्षा देते हैं, जिसमें खुद गृहमंत्री राजनाथ सिंह, एलके आडवाणी भी शामिल हैं। इनकी सुरक्षा में 40 जवान, बुलेट प्रूफ गाड़ी और दो स्कॉर्ट वाहन मुहैया कराए जाते हैं। इसी प्रकार जेड कैटेगरी में कुल 30 जवान तैनात होते हैं, जबकि वाई कैटेगरी में 11 जवान होते हैं।

Loading...

Check Also

“BJP पहले डर फैलाती है, फिर इसे हिंसा में बदल देती है” : राहुल गाँधी

सूर्योदय भारत समाचार सेवा, बोदरली – बुरहानपुर : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई वाली ...